स्वतंत्रता आंदोलन की वो दुर्लभ तस्वीरें

इमेज कॉपीरइट ADITYA ARYA ARCHIVE

मुंबई के नेशनल गैलेरी ऑफ़ माडर्न आर्ट में स्वतंत्र संग्राम के दौरान और स्वतंत्रता के बाद के भारत की खिंची हुई तस्वीरों की एक प्रदर्शनी शुरू हुई है.

इस प्रदर्शनी का शीर्षक है 'विज़ुअल अर्काइव ऑफ़ कुलवंत राय'. कुलवंत राय उस दौर के गिने चुने फ़ोटो जर्नलिस्टों में एक थे.

इमेज कॉपीरइट ADITYA ARYA ARCHIVE

यह तस्वीर 1946 की है, जिसमें सरदार पटेल, महात्मा गांधी और जवाहर लाल नेहरू आज़ादी के मसले पर बातचीत कर रहे हैं. 1984 में कुलवंत राय की मृत्यु के बाद उनकी दुर्लभ तस्वीरों का डॉक्यूमेंटशन उनके भतीजे आदित्य आर्या ने किया, ताकि भारतीय इतिहास की महत्वूर्ण घटनाओं को सहेजा जा सके.

इमेज कॉपीरइट ADITYA ARYA ARCHIVE

महात्मा गांधी हमेशा रेलवे के थर्ड क्लास में ही सफ़र किया करते थे. इस तस्वीर में वे नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से उतर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट ADITYA ARYA ARCHIVE

सीमांत गांधी के नाम से प्रसिद्ध अब्दुल ग़फ़्फ़ार ख़ां और महात्मा गांधी की इस तस्वीर को आदित्य ने मुड़े हुए निगेटिव से डेवेलप किया है.

इमेज कॉपीरइट ADITYA ARYA ARCHIVE

राजकुमारी अमृत कौर के साथ महात्मा गांधी की ये तस्वीर भी मुड़ी हुई निगेटिव से तैयार की गई है. राजकुमारी अमृत कौर भारतीय कैबिनेट में दस साल तक स्वास्थ्य मंत्री रहीं.

इमेज कॉपीरइट ADITYA ARYA ARCHIVE

1950 के दशक में यूरोप दौरे पर निकलने से पहले जवाहर लाल नेहरू अपने नाती राजीव गांधी को दुलार कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट ADITYA ARYA ARCHIVE

महात्मा गांधी इस तस्वीर में किसी बैठक को संबोधित करने के लिए जाते हुए नज़र आ रहे हैं. कुलवंत राय के चित्रों की यह प्रदर्शनी अगस्त महीने के अंत तक चलेगी. ये तस्वीरें उन्होंने 1930 से 1960 के दौरान खिंची थीं.

(मुंबई से चिरंतना भट्ट की रिपोर्ट, सभी तस्वीरें आदित्य आर्या आर्काइव के सौजन्य से)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)