कांग्रेस को विपक्ष के नेता का पद नहीं

कांग्रेस, राहुल सोनिया इमेज कॉपीरइट AP

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने स्पष्ट कर दिया है कि कांग्रेस को लोकसभा में विपक्ष के नेता का पद नहीं मिलेगा.

बीबीसी को मिली जानकारी के मुताबिक़ इस बारे में सुमित्रा महाजन ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी भी लिखी है.

14 अगस्त को लिखी चिट्ठी में सुमित्रा महाजन ने इस फ़ैसले के पक्ष में कई तर्क दिए हैं.

सुमित्रा महाजन ने कहा है कि इससे पहले भी कई उदाहरण रहे हैं जब लोकसभा में कोई विपक्ष का नेता नहीं था क्योंकि विपक्षी दलों के पास ज़रूरी संख्या में सांसद नहीं थे.

इस मामले में सुमित्रा महाजन ने परंपरा को आधार बनाया है.

कांग्रेस के पास इस लोकसभा में 44 सांसद हैं. स्पीकर का कहना है कि विपक्ष के नेता पद के लिए विपक्षी दल के पास कम से कम दस फ़ीसदी सांसद होना ज़रूरी हैं.

लोकसभा में 543 सांसद हैं और इस आधार पर विपक्ष के नेता का पद पाने के लिए पार्टी के पास 55 सीटें होनी चाहिए.

इमेज कॉपीरइट AFP

इसके अलावा सुमित्रा महाजन ने ये भी कहा है कि विपक्ष के नेता का पद किसी पार्टी के पास होता है, गठबंधन के पास नहीं.

कांग्रेस ने अपने दावे के पक्ष में कहा था कि यूपीए सबसे बड़ा विपक्षी गठबंधन बनकर उभरा है.

उन्होंने इस फ़ैसले के पक्ष में संविधान विशेषज्ञों और अटॉर्नी जनरल की राय का भी हवाला दिया है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार