कश्मीर मामले में तीसरा पक्ष नहीं: भारत

नरेंद्र मोदी और नवाज़ शरीफ़ इमेज कॉपीरइट AP

भारत ने फिर ज़ोर देकर कहा है कि जम्मू-कश्मीर मामले में 'भारत और पाकिस्तान ही दो पक्ष हैं, तीसरा कोई नहीं'.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने ट्वीट किया, “शिमला समझौते के बाद जम्मू कश्मीर मामले में सिर्फ़ दो ही 'स्टेकहोल्डर्स' यानी पक्ष हैं-भारत और पाकिस्तान. कोई और नहीं.”

अकबरुद्दीन के अनुसार, “शिमला समझौते और लाहौर घोषणा पत्र से अलग कोई भी रास्ता अपनाने से भारत-पाकिस्तान संबंधों में नतीजा नहीं आता.”

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता का बयान ऐसे समय में आया है जब बुधवार को ही भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने कहा कि जम्मू-कश्मीर विवादास्पद क्षेत्र है, लिहाजा इस मुद्दे पर सभी पक्षों से बातचीत करना जरूरी है.

अब्दुल बासित ने कश्मीरी अलगाववादी नेताओं से बातचीत के मसले पर कहा, "यह लंबे समय से चली आ रही प्रक्रिया थी. हमें लगता है कि कश्मीर की समस्या को सुलझाने में उनकी भी महत्वपूर्ण भूमिका है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार