माल्या 'विलफ़ुल डिफ़ॉलटर' घोषित

विजय माल्या इमेज कॉपीरइट Reuters

यूनाइटेड बैंक ऑफ़ इंडिया ने किंगफिशर एयरलाइंस के प्रमोटर विजय माल्या को 'जानबूझकर कर्ज़ न चुकाने वाला' यानी विलफ़ुल डिफ़ॉल्टर घोषित किया है.

बैंक के कार्यकारी निदेशक दीपक नारंग ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा, "हमने विजय माल्या और किंगफिशर एयरलाइंस के तीन अन्य निदेशकों को विलफ़ुट डिफ़ाल्टर घोषित किया है."

इस घोषणा के बाद ये लोग भविष्य में बैंक से कर्ज़ लेने के पात्र नहीं होंगे.

आपराधिक मुक़दमा संभव

उनके पास अपनी सफ़ाई रखने के लिए 15 दिन का समय है. उन्हें कंपनियों से निदेशक पद भी छोड़ना पड़ सकता है और ज़रूरी होने पर उनके ख़िलाफ़ आपराधिक मुक़दमा भी शुरू किया जा सकता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

दीपक नारंग ने बताया कि समिति के फ़ैसले की जानकारी वित्त मंत्रालय, भारतीय रिज़र्व बैंक और भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड यानी सेबी को भी दी गई है ताकि वे इनके ख़िलाफ़ उचित कार्रवाई कर सकें.

कलकत्ता हाईकोर्ट से माल्या और अन्य को विलफ़ुल डिफॉल्टर घोषित करने की हरी झंडी मिलने के बाद बैंक ने यह कदम उठाया.

यूनाइटेड बैंक का किंगफिशर एयरलाइंस पर लगभग 350 करोड़ रुपये का कर्ज़ है और भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाले कंसोर्शियम का किंगफिशर एयरलाइंस पर लगभग 7500 करोड़ रुपये का कर्ज़ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार