पाकिस्तान: बाढ़ में 181 मरे, हज़ारों बेघर

पाक प्रशासित कश्मीर में बाढ़ इमेज कॉपीरइट EPA

पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में भारी बारिश, नदियों में उफान के चलते आई बाढ़ और भूस्खलन में अब तक 181 लोग मारे गए हैं और 343 घायल हुए हैं.

पाकिस्तान के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारी अहमद कमाल ने बीबीसी उर्दू सेवा के ज़ीशान ज़फ़र के बताया कि पंजाब में 101, पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में 62 और गिलगिट क्षेत्र में भी कई लोग मारे गए हैं.

प्राकृतिक आपदा से निपटने में लगी आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार अब तक 28 हज़ार लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 16 हज़ार लोग बेघर हुए हैं.

पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर की सरकार के मुताबिक इस विपदा में लगभग 600 करोड़ रुपये की संपत्ति का नुकसान हुआ है.

मिर्ज़ा औरंगज़ेब जर्राल की रिपोर्ट

पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में 120 मकान ध्वस्त होने की पुष्टि हुई है जबकि सरकारी अधिकारियों को आशंका है कि क्षतिग्रस्त मकानों की संख्या ख़ासी बढ़ सकती है.

नीलम और झेलम नदियों का मुख्य उद्गम कश्मीर से है. इस बार की बाढ़ अधिक विनाशकारी है.

इमेज कॉपीरइट AFP

इससे पहले 2010 में नीलम में इस तरह के हालात बने थे. और उससे भी पहले 1992 में नीलम में ऐसी बाढ़ देखी गई थी.

पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के अधिकारियों का कहना है कि नीलम, झेलम और पुंछ में इस बार के हालात 1992 जैसे हैं और इन नदियों का जल स्तर 1992 जैसा ही है.

जहां तक मौसम की बात है तो पिछले दो दिन से बारिश रुकी हुई है. नदियों में भी पानी का स्तर लगातार घटता जा रहा है.

लेकिन नीलम, झेलम और पुंछ का जलस्तर अब भी ख़तरे के निशान से ऊपर है.

पुनर्वास शिविर

इमेज कॉपीरइट AFP

पाक प्रशासित कश्मीर के प्रधानमंत्री ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा भी किया है.

जहां तक विस्थापितों के पुनर्वास का सवाल है, विस्थापितों के लिए सरकार ने अभी पुख्ता इंतज़ाम नहीं किए हैं.

अभी तक सिर्फ़ 700 लोगों के लिए ही पुनर्वास शिविर बनाया गया है.

जहां तक भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पाकिस्तान के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मदद की पहल का सवाल है तो उस पर पाक प्रशासित कश्मीर की सरकार ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार