व्हाइट हाउस में मिलेंगे मोदी-ओबामा

इमेज कॉपीरइट Getty

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमरीका यात्रा के दौरान, अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ उनकी बैठकों का दौर दो दिन तक चलेगा.

अमरीकी अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की है. मोदी और ओबामा 29-30 सितंबर को व्हाइट हाउस में मिलेंगे.

2005 में अमरीकी प्रशासन द्वारा पाबंदी लगाए जाने के बाद ये मोदी की पहली अमरीका यात्रा होगी.

बताया जा रहा है कि मोदी और ओबामा के बीच सामरिक साझेदारी बढ़ाने के मुद्दे पर चर्चा होगी.

व्हाइट हाउस की ओर से कहा गया है कि अमरीकी राष्ट्रपति नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत को लेकर उत्सुक हैं.

साझेदारी बढ़ाने पर जोर

व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में कहा गया है, "दोनों नेता आर्थिक विकास को बढ़ावा देने, सुरक्षा मामलों में आपसी सहयोग बढ़ाने और दोनों देशों के साथ दुनिया भर के फायदे के मुद्दों पर काम करने पर बातचीत करेंगे."

इसके अलावा दोनों नेताओं के बीच क्षेत्रीय मुद्दे, अफ़गानिस्तान, सीरिया और इराक की मौजूदा स्थिति पर भी बातचीत होगी.

इमेज कॉपीरइट Getty

2005 में अमरीकी प्रशासन ने मोदी को वीज़ा देने से इनकार कर दिया था. यह फ़ैसला अमरीकी कानून के तहत किया गया था जिसके मुताबिक धार्मिक स्वतंत्रता का उल्लंघन करने वाले विदेशियों को अमरीका में प्रवेश नहीं दिया जा सकता है.

2002 में जब नरेंद्र मोदी के गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब राज्य में सांप्रदायिक दंगे हुए थे. दंगे में करीब 1000 लोग मारे गए थे, जिसमें ज़्यादातर मुसलमान थे.

मुख्यमंत्री रहते हुए नरेंद्र मोदी पर दंगों के दौरान कार्रवाई न करने के आरोप लगते रहे हैं लेकिन भारत की किसी भी अदालत में वे दोषी नहीं पाए गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार