चीन ने किया 20 अरब डॉलर निवेश का वादा

इमेज कॉपीरइट PIB

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि चीन ने अगले पांच साल में भारत में 20 अरब डॉलर के निवेश का वादा किया है.

प्रधानमंत्री गुरुवार को चीनी राष्ट्रपति के साथ द्विपक्षीय वार्ता के बाद आयोजित संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि चीन के साथ अच्छे संबंध हमारी प्राथमिकता में शामिल हैं. उन्होंने कहा कि वो देशों के विकास की योजनाओं को अहम मानते हैं और उनका स्वागत करते हैं.

नरेंद्र मोदी ने कहा है कि उन्होंने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से अनुरोध किया है कि वो भारतीय कंपनियों के चीन में व्यापार करने को और आसान बनाए.

कैलाश मानसरोवर के लिए नया रास्ता

संवाददाता सम्मेलन में प्रधानमंत्री ने बताया कि चीन कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने वाले तीर्थयात्रियों के लिए सिक्किम के नाथूला से होकर एक और रास्ता देने को तैयार हो गया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्होंने कहा कि यह नया रास्ता उत्तराखंड के पुराने रास्ते से अलग होगा. इसके खुल जाने से और अधिक यात्री कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जा पाएंगे. इस रास्ते से बारिश के मौसम में भी कैलाश मानसरोवर की यात्रा की जा सकेगी.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने चीनी कंपनियों को भारत में इंफ्रास्ट्रक्चर और मैन्यूफक्चरिंग के क्षेत्र में निवेश के लिए आमंत्रित किया है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देशों को अपने सीमा विवाद को जल्द से जल्द हल करना चाहिए. उन्होंने कहा कि सीमा पर शांति के लिए लाइन ऑफ एक्चूअल कंट्रोल (एलएसी) का निर्धारण का काम कई सालों से रुका हुआ है. इसे जल्द से जल्द दोबारा शुरू करने की जरूरत है.

सांस्कृतिक हिस्सेदारी

उधर चीनी राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में कहा कि भारत ने उल्लेखनीय विकास किया है. यह देखकर उन्हें काफी खुशी हुई.

उन्होंने कहा कि उनका देश गोवा अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव और नई दिल्ली में हर साल लगने वाले अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले में भाग लेगा.

इस अवसर पर चीनी राष्ट्रपति ने घोषणा की कि उनका देश भारत में चीनी भाषा के डेढ़ हज़ार शिक्षकों को प्रशिक्षित करेगा और पांच सौ चीनी शिक्षकों को भारत भेजेगा.

संबंधित समाचार