खेल और कारोबार दोनों में चीन नंबर एक

इमेज कॉपीरइट Norris Pritam

इंचियोन एशियाई खेलों के पदक तालिका में तो चीनी खिलाड़ी आगे चल ही रहे हैं, एक चीनी कंपनी ने भी कोरियाई बिज़नेस पर बड़ी चोट की है.

कोरियाई पोर्ट सिटी में चल रहे 17वें एशियन गेम्स में एक बहुत कम पहचानी चीनी कंपनी '361 डिग्री' ने खेलों के बिज़नेस पर क़ब्ज़ा कर लिया है.

यह कंपनी खेलों में काम आने वाले कपड़े बनाती है और इंचियोन में हर ओर उसका ही बोलबाला है.

खेलों को चलाने वाले अधिकारी, जज, वॉलिंटियर और यहां तक की बाहर से आने वाले विदेशी डेलिगेट भी अपने सीने पर चीनी कंपनी का लोगो लेकर घूम रहे हैं.

टॉर्च रिले में हिस्सा लेने वाले धावकों के ड्रेस पर भी चीनी कंपनी का लोगो था.

इसकी वजह कुछ तो आयोजन समिति की लापरवाही थी और कुछ चीनी कंपनी का आक्रामक बिज़नेस रणनीति.

गूगल से पता चला

यह अलग बात है की अधिकतर लोगों को पता नहीं था कि '361 डिग्री' चीज़ क्या है. एक वॉलंटियर के मुताबिक़ उसने गूगल में देखा कि '361 डिग्री' है क्या.

इमेज कॉपीरइट Norris Pritam

कुछ खेल अधिकारियों के मुताबिक़ '361 डिग्री' ने आयोजन समिति से 15 मिलियन अमरीकी डॉलर में यह सौदा किया.

एक अधिकारी ने नाम ना बताए जाने की शर्त पर बताया कि कई कोरियाई कंपनियों से बात की गई थी लेकिन कोई भी चीनी कंपनी के मुक़ाबले में ठीक रेट नहीं दे रहा था.

प्रेस सेंटर में काम कर रही एक वॉलंटियर वेउशीन हो ने कहा कि उन्हें बुरा तो लग रहा है लेकिन उनके पास और कोई चारा भी नहीं है.

उन्होंने कहा, "बड़े शर्म की बात है की इतनी बड़ी बड़ी कोरियाई कंपनी विदेशों में धन कमाती हैं और उनका बड़ा नाम है लेकिन वो अपने ही देश में एशियन गेम्स में पैसा लगाने को तैयार नहीं हैं.''

वेउशीन ने ये भी बताया कि गेम ख़त्म होते ही वो अपनी ड्रेस को आलमारी में रख देंगी और कभी उसकी तरफ़ देखेंगी भी नहीं.

'361 डिग्री' कंपनी पिछले एशियाई खेलों के दौरान गुआंगज़हो में सामने आई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार