मोदी: क्या है उनके मन की बात?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट Getty

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि प्रत्येक व्यक्ति को कम से कम एक कपड़ा खादी का ज़रूर पहनना चाहिए या फिर ख़ादी की कोई चीज़ खरीदनी चाहिए. उन्होंने कहा, "जिस दिन हम ऐसा करने लगेंगे, उस दिन आप ख़ुद को ग़रीबों के साथ जुड़ा हुआ पाएंगे."

प्रधानमंत्री शुक्रवार को दशहरे के अवसर पर आकाशवाणी के ज़रिए देश को संबोधित कर रहे थे. कार्यक्रम का नाम था 'मन की बात'. उन्होंने कहा कि वो कोशिश करेंगे महीने में एक बार इस तरह देशवासियों और समाज से जुड़ें.

उन्होंने कहा कि जब वो ऐसा करेंगे वह रविवार का दिन होगा और समय होगा सुबह के 11 बज़े.

सफ़ाई का सिलसिला

इमेज कॉपीरइट PIB
Image caption प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नई दिल्ली में स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की

उन्होंने कहा, "गांधी जयंती के अवसर पर स्वच्छ भारत अभियान की शुरूआत करते हुए मैंने कहा था कि मैं नौ लोगों को आमंत्रित करुंगा."

उन्होंने कहा कि ये नौ लोग ख़ुद सफ़ाई करते हुए अपना वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड करेंगे. वो नौ लोग और नौ लोगों को इसी तरह के काम के लिए नौ लोगों को आमंत्रित करेंगे. यह सिलसिला आगे बढ़ता जाएगा.

प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में गौतम पाल नाम के एक व्यक्ति का ज़िक्र किया. जिन्होंने उन्हें ग्राम पंचायतों, नगर पालिकाओं और नगर निगमों में शारीरिक रूप से अक्षम बच्चों के लिए विशेष योजनाएं बनाने का सुझाव दिया था.

नरेंद्र मोदी ने लोगों से अपील की कि वो विजयादशमी के अवसर पर गंदगी को देश से ख़त्म करने का संकल्प लें जिससे स्वच्छ भारत अभियान आगे बढ़ेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार