हेलीकॉप्टर कंपनियों के अच्छे दिन!

हेलीकॉप्टर इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

देश में जब भी चुनाव होते हैं, प्रचार सामग्री बनाने और बेचने वालों के साथ साथ किराए पर गाड़ियां देने वालों की बल्ले-बल्ले हो जाती है.

लेकिन लगता है कि महाराष्ट्र में हो रहे विधानसभा चुनाव में इस बार हेलीकॉप्टर कंपनियों के अच्छे दिन आ गए हैं.

महाराष्ट्र में चल रहे विधानसभा चुनावों में सभी गठबंधनों के टूटने से राजनीतिक दलों को हुए नफ़ा-नुक़सान का आकलन तो चुनाव नतीजे आने के बाद ही होगा.

लेकिन चारों प्रमुख पार्टियां शिव सेना, भाजपा, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की ओर से चुनाव प्रचार के लिए हेलीकॉप्टरों की जबर्दस्त मांग आ रही है.

पूरी रिपोर्ट पढ़ें

भाजपा और शिव सेना का 25 साल पुराना गठबंधन टूट गया है, वहीं कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने भी अपने 15 साल पुराने रिश्ते तोड़ दिए हैं.

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption महाराष्ट्र भाजपा के नेता देवेंद्र फडनवीस चुनावी रैली को संबोधित करते हुए.

नतीजतन हर चुनाव क्षेत्र में कम से कम पाँच प्रमुख उम्मीदवार मैदान में हैं.

नेताओं की मांग बढ़ी

लोकसभा चुनावों में गठबंधन की पार्टियों ने प्रचार के लिए चुनाव क्षेत्र आपस में बांट लिए थे, वहीं इस बार राज्य के सभी 288 चुनाव क्षेत्रों में प्रचार के लिए बड़े नेताओं की मांग की जा रही है.

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता सुशील कुमार शिंदे, अशोक चव्हाण और माणिकराव ठाकरे.

इसका नतीजा यह है कि इन चुनावों में पिछले चुनावों के मुक़ाबले दोगुने हवाई जहाज और हेलीकॉप्टर इस्तेमाल किए जाएंगे.

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता केशव उपाध्याय ने बीबीसी से कहा, "इस बार हम अकेले चुनाव लड़ रहे हैं और हमारे नेता पूरे राज्य में प्रचार के लिए जाएंगे. इसलिए, हेलीकॉप्टर और छोटे हवाई जहाजों की ज़रूरत बढ़ गई है."

"पार्टी के कई नेता अब केंद्र में मंत्री हैं, उनके लिए प्रोटोकॉल के मुताबिक हेलीकॉप्टर और हवाई जहाज मुहैया कराना ज़रूरी है. इस बार पार्टी ने 10 हेलीकॉप्टर पहले से ही आरक्षित कर रखे हैं."

ज़्यादा हेलीकॉप्टर

इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption भारत में चुनाव प्रचार के दौरान हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल कोई नई बात नहीं है.

मुंबई स्थित मॅब एविएशन के प्रबंध संचालक मंदार भारदे कहते हैं, "हम लोग पिछले 15 वर्षों से कांग्रेस को हेलीकॉप्टर और छोटे हवाई जहाज मुहैया करा रहे हैं."

"पहले विधानसभा चुनावों में सारी पार्टियाँ मिलकर 20-25 हवाई जहाज और हेलीकॉप्टर इस्तेमाल करती थीं, लेकिन इस बार यह संख्या बढ़कर 40 तक बढ़ गई है."

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने प्रचार के लिए एक छोटा हवाई जहाज और दो हेलीकॉप्टर आरक्षित कर रखे हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

इन हवाई जहाजों और हेलीकॉप्टर का किराया 85 हज़ार से लेकर डेढ़ लाख रुपये प्रति घंटा होता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार