झारखंड: माओवादी गिरफ़्तार, विस्फोटक बरामद

झारखंड पुलिस और गिरफ़्तार माओवादी इमेज कॉपीरइट Gaurav

झारखंड के नक्सल प्रभावित रांची ज़िले के एक जंगल में नक्सलियों के साथ कथित मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, भाकपा, के एक बड़े माओवादी को गिरफ्तार किया है.

गिरफ्तार माओवादी से पूछताछ के बाद रांची और बोकारो में उनके दो ठिकानों से 68 केन बम और क्लेमोर माइंस, तीन राइफल और ग्रेनेड समेत भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री, गोलियां और नक्सली साहित्य बरामद की गई हैं.

पुलिस के मुताबिक बरामद विस्फोटक काफी शक्तिशाली हैं.

झारखंड के पुलिस महानिदेशक राजीव कुमार ने गिरफ्तार माओवादी का नाम मुखलाल महतो ऊर्फ मोछू बताया है.

मामले

पुलिस का कहना था कि महतो उत्तरी छोटानागपुर ज़ोनल कमेटी के सक्रिय सदस्य हैं. बारूदी सुरंग विस्फोट करने के लिए तकनीकी तौर पर वो खास जानकार माने जाते हैं. पुलिस का दावा है कि महतो का हथियारबंद दस्ता नक्सलियों के कथित गढ़ झुमरा और असनाबाड़ी पहाड़ी में सक्रिय रहा है. इनके अलावा रांची समेत पांच ज़िलों में कथित तौर पर 40 से अधिक नक्सली घटनाओं को अंजाम देने में भी उनकी अहम भूमिका रही है.

बरामदगी

इमेज कॉपीरइट Neeraj Sinha
Image caption पुलिस ने नक्सलियों के साथ मुठभेड़ के दौरान हथियार भी बरामद किए.

इस बीच नक्सल प्रभावित लातेहार ज़िले के एक जंगल से तलाशी अभियान के दौरान पुलिस को 250 से अधिक सिलेंडर, प्रैशर कुकर और टिफिन बॉक्स मिले हैं. लातेहार के एसपी माइकल राज एस के मुताबिक माओवादी इनमें विस्फोटक भरकर बमों के तौर पर इस्तेमाल कर सकते थे. वरिष्ठ पत्रकार और नक्सली मामलों के जानकार रजत कुमार गुप्ता बताते हैं कि झारखंड में होने वाले चुनावों में नक्सली अपना प्रभाव दिखाते रहे हैं.

उन्होंने कहा कि लिहाज़ा इससे इनकार नहीं किया जा सकता कि विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उनकी गतिविधियां ज़ोर पकड़ने लगी हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार