जेल से रिहा हुईं 'अम्मा'

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री और अन्नाद्रमुक नेता जयराम जयललिता इमेज कॉपीरइट AP

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री और अन्नाद्रमुक नेता जयराम जयललिता बंगलुरु की जेल से रिहा होकर चेन्नई पहुंच गई हैं. चेन्नई हवाई अड्डे पर लगभग पांच हज़ार से ज़्यादा लोगों ने उनका स्वागत किया.

हवाई अड्डे से वो अपने निवास के लिए रवाना हो गईं. उनके समर्थक हवाई अडडे से उनके निवास तक के 12 किलोमीटर लंबे रास्ते पर कई जगह मानव श्रृंखला बनाए उनका स्वागत कर रहें हैं.

इससे पहले शनिवार की दोपहर उन्हें बंगलुरू की जेल से रिहा किया गया.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम और लोकसभा स्पीकर थंबी दुरई बंगलुरु जेल के बाहर जयललिता का इंतज़ार कर रहे थे.

पार्टी कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ ने जयललिता की रिहाई पर बंगलुरु जेल के बाहर ख़ुशियां मनाई.

जयललिता के क़ाफ़िले को ज़ेड प्लस सुरक्षा की निगरानी में बंगलुरु जेल से हवाई अड्डे लाया गया.

उसके बाद जयललिता एक विशेष विमान से चेन्नई के लिए रवाना हुईं.

समर्थकों में ख़ुशी

हालांकि सुप्रीम कोर्ट में जयललिता के वकील फ़ली नरिमन ने ये वादा किया है कि उनके समर्थक उनकी रिहाई पर क़ानून व्यवस्था का उल्लंघन नहीं करेंगे और ना ही न्यायपालिका की आलोचना करेंगें.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इसी कड़ी में जयललिता ने शुक्रवार को अपने समर्थकों से अपील की थी की वो शांति बनाए रखें.

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने जयललिता को शुक्रवार को ज़मानत दे दी थी.

पिछले महीने बंगलुरु की एक निचली अदालत ने उन्हें आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में चार साल की सज़ा सुनाई थी.

18 साल पुराने इस मामले में तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री को 60 करोड़ रुपए से अधिक की बेहिसाब संपत्ति रखने का दोषी पाया था.

शुक्रवार को जयललिता को ज़मानत देने के साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने यह भी निर्देश दिया कि वे सभी काग़ज़ी कार्रवाई पूरी कर दो महीने के भीतर कर्नाटक हाई कोर्ट में अपील करें.

जेल से जयललिता की रिहाई की ख़बर पर जयलिलता के समर्थकों ने सड़कों पर उनके स्वागत के लिए पोस्टर चस्पा किए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार