फडणवीस का 'शाही' शपथ ग्रहण आज

वानखेड़े स्टेडियम इमेज कॉपीरइट Ashwin Aghor

महाराष्ट्र के 18वें मुख्यमंत्री के तौर पर देवेन्द्र फडणवीस शुक्रवार को शपथ लेंगे.

महाराष्ट्र में पहली बार भाजपा सत्ता में आ रही है, इसलिए ये शपथग्रहण समारोह काफ़ी भव्य होने जा रहा है.

इस शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां काफ़ी ज़ोर-शोर से हो रही हैं. मुंबई भाजपा के अध्यक्ष आशीष शेलार की देखरेख में तैयारियां हो रही हैं.

'शाही' शपथ ग्रहण

हालाँकि अभी तक भाजपा ने बहुमत हासिल करने की रणनीति स्पष्ट नहीं की है, और शिवसेना ने भी अबतक समर्थन ज़ाहिर नहीं किया है, फिर भी भाजपा ने शाही शपथ ग्रहण समारोह की पूरी तैयारी कर ली है.

देवेन्द्र फडणवीस के साथ सात से नौ मंत्रियों के शपथ लेने की संभावना है. इनमें भाजपा के वरिष्ठ नेता एकनाथ खडसे, विनोद तावड़े, पंकजा मुंडे, सुधीर मुनगंटीवर शामिल हो सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट PTI

इसी बीच, शिव सेना नेताओं की नियोजित बैठक रद्द कर दी गई और शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने सभी विधायकों को शपथ ग्रहण समारोह में जाने से मना कर दिया है.

शिव सेना नेता नीलम गोरहे ने बीबीसी से बातचीत में कहा, "इस विषय में अब तक अंतिम निर्णय नहीं हुआ है. हमने पहले ही अपनी भूमिका स्पष्ट करते हुए नए मुख्यमंत्री और भाजपा सरकार का स्वागत किया है."

उन्होंने कहा कि शिव सेना की अंतिम भूमिका शुक्रवार को स्पष्ट हो जाएगी.

आलोचना

इमेज कॉपीरइट Other

बॉलीवुड के जाने-माने आर्ट निदेशक नितिन देसाई शपथ ग्रहण समारोह के लिए एक भव्य सेट बना रहे हैं.

इस समारोह के लिए मुख्य मंच तीन हिस्सों में बटा होगा, जहां 200 वीवीआईपी बैठेँगे. इस समारोह में महाराष्ट्र का इतिहास, प्राचीन संस्कृति और अब तक की प्रगति को दिखाती झाँकियां लगाई जाएंगी.

पूरा कार्यक्रम एक 150 फ़ीट के एलईडी स्क्रीन पर दिखाया जाएगा.

वानखेड़े स्टेडियम के पास अरब सागर में 25 नावों में कमल के फूल भी तैरते नजर आएंगे.

कहां से आया पैसा

इमेज कॉपीरइट PTI

भाजपा के इस भव्य आयोजन की विपक्षी नेताओं ने जमकर आलोचना की है.

कांग्रेस नेता और पूर्व सांसद संजय निरुपम ने भाजपा की आलोचना करते हुए कहा, "पहले भाजपा के नेता यह कह रहे थे कि राज्य की तिजोरी ख़ाली है, और अब इस समारोह पर करोड़ों रुपए फूंके जा रहे हैं. अगर यह ख़र्च सरकार नहीं कर रही है और भाजपा कर रही है तो वह राज्य की जनता को यह भी बताए कि यह सारा पैसा आया कहां से."

आर्ट डायरेक्टर नितिन देसाई ने बीबीसी को बताया,"प्राचीन महाराष्ट्र और आधुनिक महाराष्ट्र समारोह की थीम है. कार्यक्रम के दौरान छत्रपति शिवाजी महाराज के राज्याभिषेक समारोह के चित्र एलईडी स्क्रीन पर दिखाए जाएंगे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार