कश्मीर: सेना की फ़ायरिंग में 2 की मौत

भारतीय सैनिक इमेज कॉपीरइट AFP

भारत प्रशासित कश्मीर में एक सुरक्षा नाक़े के पास सेना की फ़ायरिंग में दो युवकों की मौत के बाद लोगों ने प्रदर्शन किया.

सोमवार की शाम को इस घटना का विरोध कर रहे लोगों को पीछे हटाने के लिए सेना के जवानों को हवा में गोलियां भी चलानी पड़ी.

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बडगाम ज़िले के चत्तरगाम में सुरक्षा नाक़े पर तैनात सैनिकों ने नियमित जांच के दौरान एक कार को रोकना चाहा, लेकिन कार के नहीं रुकने पर सैनिकों ने उस पर गोलियां चला दी.

सैनिकों की फ़ायरिंग

अधिकारियों के अनुसार, कार में सवार चार लोगों में से दो की मौत हो गई, जबकि अन्य दो घायलों का उपचार किया जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption कश्मीर घाटी में बड़ी संख्या में भारतीय सुरक्षा बल तैनात हैं

फ़ायरिंग में मारे गए ज़ाहिद अयूब एक फैक्ट्री में काम करते थे, जबकी फ़ैसल यूसुफ अभी पढ़ाई कर रहे थे.

भारतीय सेना की 15वीं कोर के प्रवक्ता एनएन जोशी ने श्रीनगर में इस घटना में 'आम नागरिकों' के मारे जाने पर दुख जताया और कहा कि घटना की जांच के आदेश पहले ही दे दिए गए हैं.

जोशी ने घटना के बारे में बीबीसी को बताया, "उन्हें पहले के दो नाक़ों पर भी रुकने का इशारा किया गया था, लेकिन उन्होंने अपनी कार वहां से भगा ली. हमारे पास ख़ुफ़िया जानकारी थी कि इस रास्ते से आतंकवादी गुजर रहे हैं."

राज्य के राजनीतिक दलों और अलगाववादी संगठनों ने घटना की निंदा की है.

राज्य के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी को बताया, "शिया समुदाय ताजियों को लेकर पहले ही तनाव की स्थिति है. तनाव और अधिक न बढ़े इसके लिए सभी ऐहतियाती क़दम उठाए जा रहे हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार