साफ़ करने के लिए फैलाया गया कचरा?

इमेज कॉपीरइट IICCs Twitter

भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष के झाड़ू लगाने से पहले कार्यक्रम स्थल पर 'जान बूझकर कचरा फैलाए जाने' के आरोपों पर गुरुवार शाम काफ़ी बयानबाज़ी हुई.

दिन भर मीडिया में कुछ तस्वीरें दिखाई जाती रहीं, जिनमें दिल्ली स्थित इस्लामिक कल्चरल सेंटर (आईआईसीसी) के बाहर एक व्यक्ति कचरा डाल रहा था. साथ में दिखाई जा रही दूसरी तस्वीर में उसी कचरे को बाद में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय झाड़ू लगाकर साफ़ कर रहे थे.

सतीश उपाध्याय के साथ आम आदमी पार्टी की पूर्व नेता शाज़िया इल्मी और आईआईसीसी के अध्यक्ष सिराजुद्दीन क़ुरैशी भी झाड़ू लगाते नज़र आ रहे थे.

सफ़ाई की ये तस्वीर आईआईसीसी ने बुधवार को ट्वीट की थीं.

'क्या हुआ नहीं मालूम'

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption शाज़िया इल्मी आम आदमी पार्टी के टिकट पर दिल्ली विधानसभा चुनाव हार चुकी हैं

तस्वीर सामने आते ही विपक्षी दलों की ओर से सतीश उपाध्याय पर निशाना साधा जाने लगा. इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान के प्रति गंभीर नहीं होने के तौर पर भी पेश किया गया.

इस मामले में जब बीबीसी ने सतीश उपाध्याय से बात की तो उन्होंने कहा कि वह इस्लामिक सेंटर का कार्यक्रम था इसलिए उसमें पहले क्या हुआ ये उन्हें नहीं मालूम.

उपाध्याय बोले, "इस्लामिक सेंटर में एक कार्यक्रम था जिसमें 200-250 लोग थे. पूर्व जज वहां मौजूद थे और भी कई लोग थे. इसके पीछे साज़िश है या किसी तरह की मानवीय भूल है, मैं इसमें नहीं जाना चाहता. समाज में तमाम तरह की मानसिकता के लोग हैं. इसमें क्या हुआ है, मुझे मालूम नहीं है.''

वहीं शाज़िया इल्मी ने ट्वीट किया, "इंडिया इस्लामिक सेंटर ने कई और लोगों के साथ मुझे भी कल सफ़ाई अभियान के लिए आमंत्रित किया था. मैं उस कार्यक्रम में बतौर मेहमान शामिल हुई थी."

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसी वर्ष दो अक्तूबर को स्वच्छ भारत अभियान शुरू करके देशभर में सफाई अभियान आरंभ किया था.

तबसे अब तक कई जानी-मानी हस्तियां उनकी इस मुहिम में शामिल हो चुकी हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार