क्या मोदी से बनारस की उम्मीदें पूरी हुईं?

बनारस में मोदी इमेज कॉपीरइट Getty

प्रधानमंत्री बनने के लगभग छह महीने बाद नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र बनारस के दौरे पर हैं. शुक्रवार सुबह मोदी बनारस पहुंचे.

लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान बनारस की एक बड़ी तादाद इस बात को लेकर बहुत उत्साहित थी कि उनके उम्मीदवार प्रधानमंत्री पद के दावेदार भी हैं. लोगों को मोदी से बहुत सारी उम्मीदें थीं.

इमेज कॉपीरइट Manish Khattri
Image caption मोदी के पीएम बन जाने के बाद लोगों की उम्मीदें

क्या उनकी ये उम्मीदें पूरी हुईं? यही जानने के लिए बीबीसी कुछ स्थानीय लोगों के साथ शुक्रवार सात नवंबर को शाम सात बजे हैंगआउट करने जा रहा है.

ये हैंगआउट आप यहाँ देख सकेंगे- क्लिक करें

बीबीसी कैंपस हैंगआउट

चुनाव से पहले भी बीबीसी ने बनारस में हैंगआउट करके ये जानने की कोशिश की थी कि लोगों की इस चुनाव से क्या अपेक्षाएँ हैं.

वह हैंगआउट देखने के लिए यहां क्लिक करें.

जो उम्मीदें बनारस के वोटरों ने नरेंद्र मोदी से रखी थीं, उन्हें जानने के लिए ऊपर दिए लिंक पर क्लिक करें.

मोदी ने अपने गृहराज्य गुजरात की वडोदरा लोकसभा सीट भी जीती थी लेकिन प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने बनारस के सांसद बने रहने का फ़ैसला किया था और वडोदरा की सीट छोड़ दी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)