भारतीयों के लिए सोना फिर भी है सोणा

सोने के जेवर इमेज कॉपीरइट Getty

दुनियाभर में सोने की मांग पांच साल के निचले स्तर पर है, लेकिन भारतीयों का सोने ख़ासकर ज्वैलरी के प्रति मोह कम नहीं हुआ है.

चीन पिछले साल दुनिया में सबसे अधिक सोना ख़रीदने वाला देश था, लेकिन इस साल उसने इस चमकती धातु से हाथ खींच लिया है.

वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल की ताज़ा रिपोर्ट के अनुसार इस साल जुलाई-सितंबर तिमाही में भारत में सोने की ज्वैलरी की मांग 60 प्रतिशत बढ़ी है.

जमकर सोना ख़रीदा

दीपावली और शादियों के सीज़न को देखते हुए भारतीयों ने जमकर सोना ख़रीदा.

इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES
Image caption भारत दुनिया में सोने के सबसे बड़े आयातकों में से है

वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल का कहना है कि रुपये में सोने की कीमतों में कमी और नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली नई सरकार में बढ़े भरोसे ने भारतीयों की सोना ख़रीदने में दिलचस्पी बढ़ाई है.

पिछले साल इसी अवधि में भारत में सोने का आयात घटा था. हालाँकि इसकी अहम वजह तत्कालीन सरकार का चालू खाता घाटे में कमी के लिए सोने के आयात पर अंकुश लगाना था.

काउंसिल के मुताबिक चीन में पिछले साल की तीसरी तिमाही के मुक़ाबले इस बार सोने की मांग 39 प्रतिशत घटी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार