गुजरात: 'पोलियो टीके के बाद' दो बच्चों की मौत

पोलियो टीकाकरण इमेज कॉपीरइट SCIENCE PHOTP LIBRARY

गुजरात में सुरेंद्रनगर ज़िले के धराई गांव में पोलियो का टीका लगाने के दौरान दो बच्चों की मौत हो गई है.

गांव में गुजरात सरकार का पोलियो टीकाकरण कार्यक्रम चल रहा था.

पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है.

डेढ़ महीने के निकुल और नीरव जुड़वाँ भाई थे. टीका लगने के बाद गांव के दो और बच्चों की हालत गंभीर है और वे अस्पताल में भर्ती हैं.

मृत बच्चों के पिता भलाकाना कोली ने कहा, "हम बच्चों को 12 नवंबर को हमारे गांव की आंगनबाड़ी में टीका लगाने के लिए ले गए थे. दोनों को ही कुछ देर बाद बुखार आ गया और फिर अगले दिन सुबह उनकी मौत हो गई."

पिता ने बताया, "जब हमने पुलिस से टीका देने वाले को पकड़ने को कहा तब उन्होंने बताया कि लेबोरेटरी की रिपोर्ट महीने भर बाद आएगी और तभी उनके मरने का कारण पता चलेगा."

पिता का आरोप

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption कुल पांच बच्चों में से दो की मौत हो गई है जबकि दो बच्चों की हालत गंभीर है.

वहीं सुरेंद्र नगर के मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी एसएम देव का कहना है कि बच्चों की मौत टीके से नहीं हुई है.

एसएम देव कहते हैं, "उस दिन कुल 5 बच्चों का पोलियो टीकाकरण था. अगर टीके में कुछ गड़बड़ होती तो सभी बच्चों पर असर होता. पुलिस ने शिकायत दर्ज की है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर असली बात पता चलेगी,"

हालांकि बच्चों के पिता सरकारी अफसर की इस बात से सहमत नहीं हैं.

पिता भलकाना कोली ने कहा, "अफसर सिर्फ खुद को बचाने की कोशिश कर रहे हैं. कल जब गुजरात सरकार के बड़े अधिकारी आए तभी हमने बताया था कि बच्चे टीकाकरण के पहले एकदम स्वस्थ थे. लेकिन उनकी दिलचस्पी हमें सांत्वना देने के बदले टीकाकरण करने वालों को बचाने में ज्यादा थी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार