तस्वीरें: रामपाल और 'समर्थक कवच'

रामपाल आश्रम इमेज कॉपीरइट AFP

हरियाणा में बरवाला स्थित सतलोक आश्रम से बाबा रामपाल को बुधवार रात गिरफ़्तार कर लिया गया है. उन्हें पुलिस चंडीगढ़ ले गई है, जहां आज उन्हें पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट में पेश किया जा रहा है.

इससे पहले, सतलोक आश्रम में हज़ारों की संख्या में मौजूद रामपाल के समर्थकों और हरियाणा पुलिस के बीच दो दिनों तक तनातनी चलती रही.

इमेज कॉपीरइट AFP

हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद रामपाल के अदालत में पेश नहीं होने के कारण पुलिस को ये कार्रवाई करनी पड़ी.

इमेज कॉपीरइट AFP

पुलिस ने बताया कि बुधवार को संत रामपाल के आश्रम ने पुलिस को चार महिलाओं और एक बच्चे का शव सौंपा. एक महिला की स्थानीय अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हुई. पुलिस और समर्थकों के बीच हिंसक झड़पों में कई लोग गंभीर रूप से घायल भी हुए.

इमेज कॉपीरइट AFP

रामपाल को गिरफ़्तार करने के लिए हज़ारों की संख्या में पुलिसकर्मी आश्रम के बाहर जमा थे. पुलिस का दावा है कि आश्रम से पुलिसकर्मियों पर फ़ायरिंग हुई और ईंट-पत्थरों का जमकर इस्तेमाल हुआ.

इमेज कॉपीरइट epa

बुधवार रात संत रामपाल की गिरफ़्तारी के पहले आश्रम से 15,000 लोगों को बाहर लाया जा चुका था.

इमेज कॉपीरइट AP

63 साल के रामपाल साल 2006 में हुई एक हत्या के मामले में अभियुक्त हैं और उनके खिलाफ ग़ैर ज़मानती वारंट जारी हुआ था.

इमेज कॉपीरइट AFP

आश्रम से गिरफ़्तार रामपाल के 70 समर्थकों को बुधवार को हिसार की अदालत में पेश किया गया. अदालत ने उन्हें तीन दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया. संत रामपाल के ख़िलाफ़ भी पुलिस ने राजद्रोह समेत विभिन्न धाराओं में दो नए मामले दर्ज किए हैं.

इमेज कॉपीरइट REUTERS

धार्मिक समागम बुलाए जाने के कारण आश्रम में हज़ारों की संख्या में लोग जमा थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार