छत्तीसगढ़: वायुसेना के हेलिकॉप्टर पर हमला

चिंतागुफ़ा में मुठभेड़

छत्तीसगढ़ के सुकमा ज़िले में सुरक्षाकर्मियों और माओवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में सात लोग घायल हो गए हैं.

जगदलपूर स्थित पत्रकार एसएन पाठक के अनुसार घटना शुक्रवार की दोपहर लगभग तीन बजे की है, पहले चिंतागुफ़ा के पास मुठभेड़ हुई फिर वहां से लगभग सात किलोमीटर दूर बट्टीगुडेम में घायल जवानों को ले जा रहे भारतीय वायु सेना के एक हेलिकॉप्टर पर माओवादियों ने फ़ायरिंग की.

इस ख़बर की पुष्टि करते हुए बस्तर संभाग के आईजी पुलिस एसआरपी कल्लूरी ने बीबीसी हिंदी से बातचीत करते हुए कहा कि ''चिंतागुफ़ा के पास सीआरपीएफ़ और छत्तीसगढ़ पुलिस का एक संयुक्त दल कॉम्बिंग ऑपरेशन में लगा हुआ था. उसी दौरान माओवादियों और पुलिस पार्टी के बीच ज़बर्दस्त मुठभेड़ हुई जिसमें हमारे पांच जवान घायल हुए थे. बाद में उन्हें लेने के लिए जगदलपूर से हेलिकॉप्टर भेजा गया. हेलिकॉप्टर उड़ते समय नक्सलियों ने उस पर फ़ायरिंग की जिसमें और दो लोग घायल हो गए.''

घायलों में हेलिकॉप्टर के पायलट एमके तिवारी भी शामिल हैं जिनके पैरो में छर्रे लगे हैं.

आईजी कल्लूरी के अनुसार सभी सात घायलों को इलाज के लिए रायपूर लाया गया है. फ़िलहाल सभी सुरक्षित हैं लेकिन एक जवान की हालत गंभीर है.

'नक्सली ख़ात्मे की ओर'

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पुलिस का दावा बस्तर में माओवादी ख़ात्मे पर

आईजी कल्लूरी ने दावा किया कि इस मुठभेड़ में माओवादियों को भी भारी नुक़सान हुआ है लेकिन इस बारे में अभी और जानकारी नहीं मिल सकी है.

उनके अनुसार पिछले कुछ दिनों से पूरे बस्तर में पुलिस ऑपरेशन चल रहे हैं जिसमें उसे काफ़ी सफलता मिल रही है. आईजी कल्लूरी ने यहां तक दावा किया कि बस्तर में माओवादी ख़ात्मे की ओर हैं.

उन्होंने कहा कि काफ़ी संख्या में नक्सली आत्मसमपर्ण कर रहे हैं और कई लोगों को गिरफ़्तार भी किया गया है.

आईजी कल्लूरी ने कहा कि पिछले 10-15 दिनों से जारी ऑपरेशन में पुलिस बल को कहीं पर भी माओवादियों की ओर से कोई गंभीर चुनौती नहीं मिली थी. उनके अनुसार सुरक्षाकर्मी अब उन इलाक़ों में ऑपरेशन कर रहे हैं जहां कुछ दिनों पहले तक वे जाने का सोच भी नहीं सकते थे.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप हमसे फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.)

संबंधित समाचार