महिला नसबंदी में साइकिल पंप का इस्तेमाल..

ओडीशा में महिलाओं की नसबंदी इमेज कॉपीरइट

ओडीशा सरकार ने नसबंदी कैंपों में लापरवाही की रिपोर्टों के बाद अस्पताल के बाहर लगने वाले कैंपों में नसबंदी पर रोक लगा दी है.

ओडीशा की स्वास्थय सचिव आरती आहूजा ने बीबीसी से कहा, "अब सर्वसुविधायुक्त सरकारी अस्पतालों में ही नसबंदी की जाएगी."

आरती आहुजा के मुताबिक राज्य में महिलाओं की नसबंदी जारी रहेगी और इस दौरान राष्ट्रीय मानकों का पालन किया जाएगा.

आरती आहुजा ने नसबंदी कैंप के दौरान महिलाओं का पेट फुलाने के लिए साइकिल में हवा भरने के पंप के इस्तेमाल की ख़बरों की पुष्टि करते हुए कहा कि संबंधित डॉक्टर को नसबंदी कार्यक्रम से हटा दिया गया है.

बीते शुक्रवार को 56 महिलाओं की नसबंदी में साइकिल पंप का इस्तेमाल करने वाले डॉक्टर महेश चंद्र राउत ने बीबीसी से कहा, "ओडीशा में सर्जरी के दौरान साइकिल पंपों का इस्तेमाल होना आम बात है."

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption छत्तीसगढ़ में नसबंदी में लापरवाही के कारण पंद्रह महिलाओं की मौत हो गई थी.

डॉक्टर राउत का कहना है कि उन्होंने नसंबदी ऑपरेशनों के दौरान सैकड़ों बार साइकिल पंप का इस्तेमाल किया गया है और कभी कोई हादसा नहीं हुआ है.

हालांकि स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि सर्जरी के दौरान कार्बन डाई ऑक्साइड का इस्तेमाल किया जाना चाहिए और पंप का इस्तेमाल करना महिलाओं के लिए हानिकारक हो सकता है.

पिछले महीने ही छत्तीसगढ़ में नसबंदी कैंप में लापरवाही के कारण 15 महिलाओं की मौत हो गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार