राज्य सभा में गर्माया कथित धर्मांतरण का मुद्दा

भारतीय संसद इमेज कॉपीरइट AP

उत्तर प्रदेश के आगरा में कथित तौर पर कुछ मुसलमानों को हिंदू धर्म में परिवर्तित करने की घटना पर बुधवार को राज्य सभा में जमकर हंगामा हुआ.

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मायावती ने यह मामला उठाते हुए कहा, ''क्या यह सच है कि बजरंग दल ने मुसलमानों का ज़बरदस्ती धर्म परिवर्तन किया. उन्हें धर्मांतरण के लिए लालच दिया गया था. मुझे पता चला है कि बजरंग दल के लोग अलीगढ़ में भी ऐसा ही करने की योजना बना रहे हैं.''

सांप्रदायिक तनाव

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption संसदीय कार्य राज्यमंत्री ने कहा कि इस मामले मे आरएसएस का नाम न घसीटा जाए.

मायावती का कहना था कि ये केवल राज्य सरकार का ही नहीं बल्कि केंद्र सरकार का भी मामला है. इसलिए उसे इस पर कार्रवाई करनी चाहिए, नहीं तो इससे सांप्रदायिक तनाव बढ़ेगा.

इस पर संसदीय कार्य मामलों के राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि सरकार इस पर नज़र बनाए हुए है. उन्होंने कहा कि आगरा की इस घटना को लेकर एफ़आईआर दर्ज कराई गई है.

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि इस मामले में किसी पार्टी का नाम लाना ग़लत है. इसमें आरएसएस का नाम नहीं घसीटा जाना चाहिए.

मंत्री का कहना था कि यह क़ानून व्यवस्था से जुड़ा राज्य का मामला है और इस पर राज्य सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए थी.

कांग्रेस के मनीष तिवारी, दिग्विजय सिंह, राजीव शुक्ल और माकपा के सीताराम येचुरी ने भी कथित धर्मांतरण को लेकर अपनी चिंता जताई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार