कह दो राम इमाम-ए-हिंद हैं आपके: स्वामी

भारतीय जनता पार्टी के नेता डॉक्टर सुब्रमण्यम स्वामी कहते हैं अयोध्या में राम मंदिर बनाने पर मुसलमानों से 2016 तक समझौता हो जाएगा.

उन्होंने ये बात बीबीसी हिंदी के गूगल हैंगआउट और फ़ेसबुक लाइव चैट के दौरान कही है.

(स्वामी के साथ हुए गूगल हैंगआउट का वीडियो)

उन्होंने आगे कहा, "हम कहते हैं मुसलमानों को बुलाकर बैठ जाओ और कह दो राम इमाम-ए-हिंद हैं आपके (अल्लामा) इक़बाल ने भी ये कहा था."

सुब्रमण्यम स्वामी ने बताया कि मस्जिद को दूसरी जगह 'शिफ्ट' किया जा सकता है, मंदिर को नहीं किया जा सकता.

राम मंदिर बनाए जाने के लिए किस तरह की बातचीत चल रही है, इस पर स्वामी ने विस्तार से जानकारी नहीं दी. लेकिन उन्होंने कहा कि सऊदी अरब के वित्त मंत्री से उनकी मुलाक़ात हुई और पता चला कि वहां विकास के काम के लिए मस्जिदें तोड़ी जाती हैं.

ये बातें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी बताईं हैं.

6 दिसंबर, 1992

डॉक्टर सुब्रमण्यम स्वामी जो अपने विवादास्पद बयानों के लिए जाने जाते हैं, कहते हैं कि राम मंदिर पर मामला ख़त्म नहीं होगा.

उन्होंने बताया, "हम एक से नहीं संतुष्ट होने वाले हैं. राम मंदिर, कृष्ण का और शिवा का काशी विश्वनाथ. ये तीन को छोड़ कर हम दूसरी कोई भी जगह आपको दे देंगे, मदद भी कर देंगे आपको मस्जिद बनाने में."

उनका कहना था 2016 तक मुस्लमानों और हिंदुओं के बीच समझौता हो जाएगा तो बाकी दोनों विवादित 'मंदिरों' पर भी आसानी से समझौता हो जाएगा.

उन्होंने कहा इस बारे में गतिविधियाँ चल रही हैं लेकिन उन्होंने ने इस पर आगे बोलने से इंकार कर दिया.

अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद का विवाद पुराना है. ये मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में है.

हज़ारों कार सेवकों ने 6 दिसंबर 1992 के दिन बाबरी मस्जिद की विवादित इमारत पर हल्ला बोल दिया था जिससे इमारत नष्ट हो गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार