मोदी की 'मन की बात': दस अहम बातें

इमेज कॉपीरइट EPA

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बार आकाशवाणी पर अपने विशेष संबोधन 'मन की बात' में नशे का मुद्दा उठाया है.

इसमें कही गई दस ख़ास बातें इस प्रकार हैं.

  • हेल्पलाइन: नशे की रोकथाम के लिए टोल फ्री हेल्पलाइन बनाई जाएगी.
  • थ्री डी: ड्रग्स बुराइयों का थ्री डी है; डार्कनेस, डिस्ट्रक्शन और डिवास्टेशन.
  • ड्रग्स और आंतक: ड्रग्स का पैसा आतंक फैलाने वालों के पास भी तो जा सकता है.
  • नो कहें: नशा न तो 'स्टाइल स्टेटमेंट' है और न ही 'कूल'…इसे ना करने की हिम्मत जुटाइए.
    इमेज कॉपीरइट AP
  • लक्ष्य: माता-पिता बच्चों को कुछ लक्ष्य दें, शैक्षिक संस्थाएं बच्चों के प्रति जागरूक रहें.
  • मुहिम: सोशल मीडिया को ड्रग फ्री इंडिया हैशटैग के साथ मुहिम चलानी चाहिए.
  • सलाम: जम्मू-कश्मीर की टीम का मुंबई को हराना उनके बुलंद हौसलों को दिखाता है. बाढ़ से सारे मैदान पानी से भरे थे, हालात विपरीत थे, ऐसे में उनकी सफलता अभूतपूर्व है.
  • योग दिवस: संयुक्त राष्ट्र का 21 जून को योग दिवस घोषित करना गौरव की बात. योग पर 177 देशों का को-स्पान्सर बनना विश्व रिकॉर्ड है.
    इमेज कॉपीरइट Reuters
  • दिल मिले: हाल में मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में हाथ में कागज कलम नहीं था, साथ में अफसर नहीं थे, फाइलें भी नहीं थी. सभी ने दो-ढाई घंटे दिल खोलकर बात की.
  • नॉर्थ ईस्ट: प्रकृति देखनी है तो पूर्वोत्तर जरूर जाएं. अपार शक्तियों की संभावनाओं से भरा है ये अंचल. यहां के लोगों का अपनापन दिल को छूने वाला है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)