न्यूज़ अलर्ट: पुराने 'समाजवादियों' का जमावड़ा

इमेज कॉपीरइट AP

राजधानी दिल्ली में आज ग़ैर कांग्रेसी विपक्षी दलों का जमावड़ा हो रहा है. इसमें पूर्व में जनता दल परिवार का हिस्सा रहीं छह पार्टियां शामिल होंगी.

केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए सरकार बनने के बाद यह पहला राजनीतिक विरोध-प्रदर्शन है.

दिल्ली में जंतर-मंतर पर धरने के बाद सपा, जनता दल (यू), जनता दल (एस), राष्ट्रीय जनता दल, इंडियन नेशनल लोकदल और समाजवादी जनता पार्टी के विलय की प्रक्रिया तेज़ होगी.

ट्यूनीशिया

ट्यूनीशिया में राष्ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव में आज परिणाम आने की उम्मीद है. हालांकि रविवार को चुनाव बाद हुए एक्जिट पोल्स में 88 वर्षीय बेजी काएद एसेब्सी की जीत लगभग तय मानी जा रही है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ट्यूनीशिया में मतदान करने के बाद एक महिला निशान दिखाती हुई

एसेब्सी के समर्थकों ने राजधानी ट्यूनिस की सड़कों पर जश्न मनाना भी शुरू कर दिया है लेकिन उनके प्रतिद्वंद्वी और कार्यवाहक राष्ट्रपति मोंसेफ़ मर्ज़ूकी ने एसेब्सी की जीत के दावों को ख़ारिज किया है और कहा है कि अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं है.

अरब जगत में क्रांति के दौरान ट्यूनीशिया पहला देश था जिसने अपने नेता को पद से हटाया था और मध्य पूर्व के तमाम देशों के लिए एक नज़ीर बना था.

तुर्की

तुर्की में एक संसदीय आयोग आज ये तय करने वाला है कि राष्ट्रपति रेसेप तैयप अर्दोगान के चार पूर्व मंत्रियों के ख़िलाफ़ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की सुनवाई तुर्की की सर्वोच्च आपराधिक अदालत को सौंपी जाए या नहीं.

इन मंत्रियों को भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते पिछले साल दिसंबर महीने में अपना पद छोड़ना पड़ा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार