'शराब पिलाएँ, घर भी छोड़ने जाएँ'

नए साल का जश्न इमेज कॉपीरइट Getty

मुंबई में एक ओर लाखों लोग नए साल का जश्न मनाएंगे, तो दूसरी ओर शहर के होटल और बार मालिकों के लिए यह जश्न सिरदर्द बन सकता है.

असल में मुंबई ट्रैफिक पुलिस ने एक नोटिस जारी किया है.

नोटिस के अनुसार यदि कोई ग्राहक ज्यादा शराब पी लेता है और अपनी गाड़ी खुद चलाने की स्थिति में नहीं है, तो उस ग्राहक को घर पहुँचाने की ज़िम्मेदारी होटल या बार की होगी.

नोटिस के अनुसार होटल ऐसे ग्राहकों को ड्राइवर मुहैया कराए या अपनी गाड़ी में उन्हें सही-सलामत घर तक छोड़े.

इतना ही नहीं, यदि किसी शराब पीने वाले के साथ कोई दुर्घटना होती है, तो उसकी जिम्मेदारी भी होटल तथा बार मलिक की होगी.

पहली बार हुआ ऐसा

इस तरह का नोटिस मुंबई पुलिस ने पहली बार जारी किया है. इसके कारण होटल तथा बार मालिकों में ख़ासा गुस्सा है.

मुझको यारों माफ़ करना, मैं नशे में थी...

मुंबई के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर (ट्रैफिक) डॉ भूषण कुमार उपाध्याय के अनुसार यह नोटिस लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जारी किया गया है.

डॉ भूषण कुमार कहते हैं, "नए साल का जश्न मनाने के बाद शराब के नशे में घर जाते हुए कई लोग दुर्घटना का शिकार बनते हैं. यदि होटल तथा बार मालिक थोड़ी सी सावधानी बरतें तो इस तरह की दुर्घटनाओं को रोका जा सकता है,"

विरोध

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

डॉ उपाध्याय का कहना है कि इस नोटिस का ये मतलब नहीं कि हर ग्राहक को उसके घर तक छोड़ा जाए, बल्कि यह आदेश केवल उन ग्राहकों के लिए है जो शराब पीकर धुत्त हो जाते हैं और खुद से घर जाने की स्थिति में नहीं होते.

'नशे में' मौलवी, सोशल मीडिया पर हंगामा

शहर के होटल और बार मालिकों ने इस नोटिस का विरोध किया है.

इमेज कॉपीरइट mumbaibar

मुंबई बार मलिकों के संगठन के अध्यक्ष पवन अग्रवाल के अनुसार, "यह निहायत ही अव्यावहारिक नोटिस है."

अग्रवाल कहते हैं "नशे में धुत्त ग्राहकों को घर तक पहुँचाने के लिए हमारे पास पर्याप्त संसाधन नहीं है, और न ही हम ऐसी कोई व्यवस्था कर सकते हैं. हम मानते हैं कि नए साल के जश्न के बाद होने वाली दुर्घटनाएँ कम होनी चाहिए. लेकिन इसकी बराबर जिम्मेदारी ग्राहकों की भी है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार