बंदर क्या जाने ज़हर का स्वाद...

बंदर (फ़ाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल के हावड़ा ज़िले के मानिकपुर गांव में चूहे मारने की दवा मिलाए बिस्कुट खाने से 15 बंदरों की मौत हो गई.

घटना रविवार की है. मानिकपुर गांव में एक फेरीवाला इन बिस्कुटों को बेच रहा था, तभी बंदरों के एक झुंड ने उस पर हमला कर दिया.

बंदरों के हमले से घबराकर फेरीवाला अपना सामान छोड़ कर भाग गया.

बंदरों का झुंड बिस्कुट लेकर पेड़ पर चढ़ गया.

ज़हर से मौत

लेकिन एक घंटे के भीतर ही ज़हर के असर से बंदर मरकर नीचे गिरने लगे. गांव वालों ने वन विभाग और पुलिस को इसकी सूचना दी.

इमेज कॉपीरइट

हावड़ा के फॉरेस्ट रेंजर श्यामल मुख़र्जी ने बताया, ''बिस्कुट खाने के बाद 14 बंदरों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया. दो बंदरों को अस्पताल में दाखिल कराया गया था. उनमें से एक की मौत सोमवार को हुई.''

उन्होंने बताया कि एक शव का पोस्टमार्टम किया गया है. प्राथमिक रिपोर्ट में बंदर की मौत ज़हर से होने का पता चला है.

सांकराइल थाने के सब-इंस्पेक्टर धीरेन दास ने बताया, ''फेरीवाले के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर लिया गया है. उसकी तलाश की जा रही है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार