अमरीकी अदालत से बरी हुए मोदी

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका की संघीय अदालत ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ दायर किए गए मामले को ख़ारिज कर दिया है.

यह मामला मानवाधिकार समूह अमेरिकन जस्टिस सेंटर ने दायर किया था और आरोप लगाया था कि गुजरात में 2002 में हुए दंगों में उस समय राज्य के मुख्यमंत्री रहे नरेंद्र मोदी कथित रुप से शामिल थे.

इस मामले को न्यूयॉर्क सदर्न डिस्ट्रिक जज की अदालत में ख़ारिज कर दिया गया है.

अमरीकी जज अनालिसा टोरेस ने यह कहते हुए मामला ख़ारिज किया कि किसी भी देश के प्रमुख के ख़िलाफ़ मामला नहीं चलाया जा सकता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

याचिका में प्रधानमंत्री मोदी पर तीन गंभीर आरोप लगाए थे लेकिन तीनों ही आरोप ख़ारिज कर दिए गए हैं.

पिछले सितंबर महीने में जब मोदी अमरीका पहुंचने वाले थे उसी दौरान न्यूयॉर्क की एक अदालत ने उनके ख़िलाफ़ सम्मन जारी किए थे और जवाब देने को कहा था.

उसी दौरान अमरीकी विदेश मंत्रालय ने साफ़ किया था कि अमरीकी विदेश मंत्रालय भारतीय प्रधानमंत्री को किसी भी तरह के कानूनी मामले से अलग रखता है क्योंकि वो राष्ट्राध्यक्ष हैं.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर 2002 के गुजरात दंगों से जुड़े आरोप थे.

अब जज ने इसी आधार पर मोदी के ख़िलाफ़ दायर किए गए मामले को ख़ारिज कर दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार