भाजपा कार्यालय के बाहर नारेबाज़ी, हंगामा

प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट PTI

पार्टी में 'बाहरी' लोगों को शामिल किए जाने और अपनों को टिकट के लिए मना किए जाने को लेकर भाजपा में असंतोष सतह पर उभर आया है.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय को टिकट न दिए जाने से नाराज़ हुए उनके समर्थकों ने दिल्ली में भाजपा कार्यालय के बाहर जमकर हंगामा किया.

प्रदर्शनकारियों ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के ख़िलाफ़ भी नारेबाजी की.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, प्रदर्शनकारियों को शांत कराने पहुंचे सतीश उपाध्याय के साथ धक्का मुक्की भी हुई है.

बिधुड़ी का इस्तीफ़ा

इमेज कॉपीरइट PTI

सतीश उपाध्याय ने प्रदर्शनकारियों को शांत करने की कोशिश की, लेकिन प्रदर्शन जारी रहा और आखिरकार पुलिसबल को बुलाना पड़ा.

संसदीय समिति की बैठक के बाद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को घोषणा की थी सतीश उपाध्याय विधान सभा चुनाव नहीं लड़ेंगे.

इसके साथ ही उन्होंने किरण बेदी को भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया था.

इससे पहले टिकट न मिलने से नाराज भाजपा नेता धीर सिंह बिधुड़ी ने पार्टी से इस्तीफ़ा दे दिया.

रोहिणी में भी हंगामा

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption भाजपा के निवर्तमान विधायक जय भगवान के समर्थकों ने भी उन्हें टिकट नहीं दिए जाने पर हंगामा किया.

धीर सिंह बिधुड़ी ओखला से टिकट चाहते थे, लेकिन वहां से पूर्व बसपा नेता ब्रह्म सिंह को टिकट दे दिया गया है.

एजेंसी के अनुसार, दिल्ली के रोहिणी इलाक़े में भाजपा के निवर्तमान विधायक जय भगवान के समर्थकों ने यहां से विजेंद्र गुप्ता को टिकट दिए जाने के विरोध में जाम लगाया.

दिल्ली भाजपा उपाध्यक्ष शिखा राय को भी टिकट नहीं दिया गया है, इसे लेकर उनके समर्थकों ने भी हंगामा किया.

भाजपा नेता विजय जॉली ने कहा कि, "हो सकता है कि कुछ लोग नाराज हों, बहुत सोच समझकर टिकट का बंटवारा किया गया है."

इमेज कॉपीरइट PTI

जैसे-जैसे दिल्ली विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहा है, भाजपा के अंदर खींचतान होती नज़र आ रही है.

पार्टी में शामिल होने के दूसरे दिन ही किरण बेदी के घर चाय पर बुलाए गए दिल्ली के सात सांसदों में से दो गए ही नहीं थे और हर्षवर्धन मीटिंग ख़त्म होने के बाद वहाँ पहुंचे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार