मोदी का नारा 'बेटी बचाओ'

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट AFP

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में लड़कियों के साथ भेदभाव रोकने के लिए एक नए अभियान की शुरुआत की है.

'बेटी बचाओ, बेटी बढ़ाओ' नाम के इस अभियान का ज़ोर ख़ासतौर से कन्या भ्रूणहत्या को रोकने पर है.

इसमें उन ज़िलों में लिंग की पहचान रोकने पर काम किया जाएगा, जहां कन्या भ्रूण हत्या की दर सबसे ज़्यादा है.

'बुरा असर'

इसके अलावा, स्कूलों में लड़कियों की हाजिरी बढ़ाने की दिशा में भी कोशिशें की जाएंगी.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि 'लड़कों की चाहत' की वजह से पूरे देश पर बुरा असर पड़ रहा है.

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार कन्या भ्रूणहत्या के इस चलन से भारत में लिंगानुपात प्रति हज़ार पुरुषों पर सिर्फ़ 918 महिलाओं का रह गया है.

ट्वेंटी-इलेवन की ओर से किए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार पिछले 30 साल में 1.20 करोड़ कन्याओं की गर्भ में ही हत्या किए जाने की आशंका है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार