'मोदी से संबंध ठीक करने में लगी हैं जयंती'

राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट PTI

कांग्रेस ने राहुल गाँधी पर सवाल खड़ा करते हुए पार्टी छोड़ने वाली जयंती नटराजन के आरोपों को ख़ारिज किया है.

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस करके कहा, "जयंती को भ्रष्टाचार के गंभीर आरोपों की वजह से मंत्री पद से हटाया गया था."

उन्होंने जयंती नटराजन के आरोपों को तथ्यों के आधार पर ग़लत बताया है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री जयंती नटराजन ने शुक्रवार को पार्टी से इस्तीफा देते हुए पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर मंत्रालय के कामकाज़ में हस्तक्षेप का आरोप लगाया.

राहुल से त्रस्त जयंती ने छोड़ी कांग्रेस: 7 बिंदु

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने जयंती पर हमला बोलते हुए कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपने संबंध ठीक करने में लगी हुई है.

जयंती नटराजन ने पाँच नवंबर को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक ख़त लिखकर राहुल गांधी की भूमिका पर सवाल उठाए थे. यह चिट्ठी शुक्रवार को मीडिया में सामने आई है.

उन्होंने चिट्ठी में कहा कि राहुल गांधी चाहते थे कि अडानी समूह से संबंधी परियोजनाओं को नहीं मिलना चाहिए.

आरोप

इमेज कॉपीरइट PIB

जयंती ने चिट्ठी में लिखा है कि राहुल गांधी ओडिशा के नियमगिरि गए. वहां उन्होंने सार्वजनिक रूप से घोषणा की कि वो डोगरिया कोंध आदिवासियों के सिपाही हैं. वो वेदांता के हाथों उनके हितों का गला घोंटने नहीं देंगे.

जयंती नटराजन का राहुल पर हमला: 12 बिंदु

जयंती ने कहा है, इसके बाद मुझे राहुल गांधी के दफ़्तर से इस मामले को देखने को कहा गया. इस पर मैंने वेदांता को दी गई पर्यावरण मंजूरी को खारिज कर दिया.

नटराजन ने यह भी आरोप लगाया कि पार्टी ने उनसे उनकी इच्छा के ख़िलाफ़ ‘स्नूपगेट’ मामले पर नरेंद्र मोदी पर तीखे हमले करने को कहा था.

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने जयंती के आरोपों पर कहा है कि पार्टी किसी भी मंत्री के काम में दखल नहीं देती थी.

इस बीच केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने जयंती नटराजन के आरोप के बाद कहा कि कांग्रेस 'क्रोनी कैपिटलइज़्म' की पोषक है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार