दिल्लीः कुछ नेता बूढ़े, कुछ जवान होते गए

भारत, चुनाव, लड़का इमेज कॉपीरइट Reuters

दिल्ली विधानसभा के चुनावी अखाड़े में उतरे प्रत्याशियों के चुनाव आयोग को दिए गए हलफ़नामों की इन्हीं प्रत्याशियों के पिछले चुनावों में दिए हलफ़नामों से तुलना करने पर अजीब जानकारियाँ सामने आई हैं.

आपको यह जानकारी हैरानी होगी कि किसी प्रत्याशी की उम्र पांच साल बाद तीन साल कम हो गई है तो किसी की पांच साल में आठ साल बढ़ गई है.

पढ़ें पूरी रिपोर्ट

दिल्ली के सीलमपुर से कांग्रेस प्रत्याशी चौधरी मतीन अहमद की उम्र बढ़ने के बजाए घट रही है.

वर्ष 2008 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में चुनाव आयोग को दिए हलफ़नामे में उनकी उम्र 58 साल है, लेकिन पांच साल बाद 2013 में उनकी उम्र घटकर 55 हो गई और 2015 में अब वो 56 साल के हैं.

तिलकनगर के राजीव बब्बर की कहानी भी कुछ ऐसी ही है. 2013 में उनकी उम्र 46 साल थी, लेकिन अब उन्होंने खुद को 45 साल का बताया है.

तेज़ी से बढ़ती उम्र

इमेज कॉपीरइट PTI

बल्लीमारान से कांग्रेस प्रत्याशी हारून यूसुफ़ की कहानी थोड़ी हटकर है. वो कुछ ज़्यादा ही तेज़ी से बुज़ुर्ग हो रहे हैं.

सवा साल में वो तीन साल बड़े हो चुके हैं. दिसम्बर 2013 विधानसभा चुनाव में वो 53 साल के थे, लेकिन अब फरवरी 2015 चुनाव में 56 साल के हो गए हैं.

कुछ ऐसी ही कहानी बाबरपुर से कांगेस प्रत्याशी ज़ाकिर ख़ान की भी है. वो दिसम्बर 2013 चुनाव में 39 साल के थे, लेकिन अब 2015 में उनकी उम्र 42 साल हो गई है.

करावल नगर से भाजपा प्रत्याशी मोहन सिंह बिष्ट 2008 में 47 साल के थे और 2013 में उनकी उम्र 55 साल हो गई. अब 2015 में वो 57 साल के हैं.

मुस्तफ़ाबाद से कांग्रेस प्रत्याशी हसन अहमद 2008 में 54 साल के थे, लेकिन 2013 में वे 60 साल के हो गए. यानी पांच साल में वे छह साल बड़े हो गए. अब 2015 में उनकी उम्र 62 साल है.

सुविधानुसार बदलाव

इमेज कॉपीरइट Getty

राजौरी गार्डेन से शिरोमणि अकाली दल के प्रत्याशी मजिन्दर सिंह सिरसा जब 2008 में भाजपा से चुनाव लड़े थे तो 35 साल के थे. मगर पांच साल बाद अकाली दल में शामिल होते ही वो छह साल बड़े हो गए. यानी 2013 में उनकी 41 साल हो गई. इस समय वो 43 साल के हैं. मजिन्द्र सिरसा इस चुनाव में दिल्ली के सबसे अमीर प्रत्याशी हैं.

कालकाजी से भाजपा प्रत्याशी सुभाष चोपड़ा 2008 में 60 साल के थे. 2013 में उनकी उम्र 65 के बजाए 66 साल हो गई. 2015 में वो अब 67 साल के हैं.

ओखला के आसिफ मोहम्मद खान 2008 में 45 साल के थे. सितम्बर 2009 के उप चुनावों में भी वो 45 साल के ही रहे. हैरानी की बात यह है कि साल 2013 में उनकी उम्र 50 के बजाए 49 साल ही रही. कांग्रेस के उम्मीदवार आसिफ़ 2015 में 51 साल के हैं.

आयोग संज्ञान लेगा?

इमेज कॉपीरइट AFP

द्वारका से कांग्रेस प्रत्याशी महाबल मिश्रा की कहानी भी आसिफ़ से मिलती जुलती है. वो 2008 के विधानसभा चुनाव में 54 साल के थे. 2009 के लोकसभा चुनाव में भी उनकी उम्र यही रही. 2014 के लोकसभा में वो 59 साल के हो गए. अब वो 2015 के विधान सभा चुनाव में 61 साल के हो चुके हैं.

हाल ही में कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुई पटेल नगर प्रत्याशी कृष्णा तीरथ 2009 लोकसभा चुनाव में 54 साल की थीं. 2014 लोकसभा चुनाव उनकी उम्र 58 थी और 2015 में उनकी उम्र 59 साल है.

इन उम्मीदवारों ने तो आयोग को हलफनामा देकर ये सूचनाएं दी हैं, देखना ये है कि क्या आयोग इनकी विसंगतियों का संज्ञान लेगा?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार