महाराष्ट्र सरकार ख़रीदेगी अंबेडकर का घर

भीमराव अंबेडकर इमेज कॉपीरइट EPA

महाराष्ट्र सरकार ने लंदन स्थित उस घर को ख़रीदने का फ़ैसला किया है जिसमें डॉक्टर भीमराव अंबेडकर अपनी वक़ालत की पढ़ाई करने के दौरान रहे थे.

भारत के प्रमुख दलित विचारकों में एक डॉक्टर अंबेडकर को भारतीय संविधान का निर्माता माना जाता है. इस मकान की कीमत करीब 40 करोड़ रुपए है.

मंगलवार को मुंबई में हुई राज्य कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया. सरकार इस मकान में डॉक्टर अंबेडकर का स्मारक तथा छात्रावास बनाएगी.

लंदन स्थित इस तीन मंजिले मकान का पता है 10, किंग हेनरी मार्ग, एनडब्ल्यू-3 और इसका क्षेत्रफल 2050 वर्गफ़ुट है.

मकान खरीदने का निर्णय जनवरी के आख़िरी सप्ताह में ही ले लिया गया था जब राज्य के सांस्कृतिक कार्य मंत्री विनोद तावड़े लंदन दौरे पर गए थे. उस निर्णय पर आज कैबिनेट की बैठक में मुहर लग गई.

सरकार के इस निर्णय का समाज के हर तबके में स्वागत किया जा रहा है.

फ़ैसले का स्वागत

इमेज कॉपीरइट AP

रिपब्लिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष और राज्यसभा संसद रामदास आठवले ने इस निर्णय का स्वागत करते हुए बीबीसी से कहा, "यह एक बहुत अच्छा निर्णय है और हम इसका स्वागत करते हैं."

आठवले ने कहा, "हम चाहते हैं कि लंदन स्थित डॉक्टर बाबासाहब के मकान में पुस्तकालय बनाया जाए और छायाचित्र प्रदर्शनी लगाई जाए, जिससे उच्च शिक्षा के लिए लंदन जाने वाले छात्रों को सुविधा हो."

आठवले चाहते हैं कि मुंबई के इंदू मिल की ज़मीन पर भी डॉक्टर अंबेडकर का एक भव्य स्मारक बनाया जाया. इंदू मिल के निकट चैत्य भूमि में अंबेडकर की अस्थियाँ रखी हुई हैं.

वो कहते हैं, "राज्य तथा केंद्र स्तर पर मैं इसके लिए पुरज़ोर कोशिश करूँगा. हमारी मांग है कि इस स्मारक के लिए आवश्यक 400 करोड़ रुपए में से 100 करोड़ रुपए का प्रावधान इस साल के बजट में किया जाए."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार