जीतनराम मांझी अपनी ही पार्टी से भिड़े

इमेज कॉपीरइट Shailendra Kumar

बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल (यू) और राज्य की जीतनराम मांझी सरकार के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है.

सरकार की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में 7 फरवरी को विधायकों की बैठक बुलाने के पार्टी के फैसले को अवैध बताया है.

राज्य के सूचना और जनसंपर्क विभाग की तरफ़ से जारी इस बयान में मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के इस्तीफ़े की खबर को बेबुनियाद बताया गया है.

बयान के मुताबिक, “विधायक दल की बैठक बुलाने का अधिकार नेता विधायक दल (मुख्यमंत्री) को है. सूत्रों से विदित विधानमंडल की बैठक दिनांक 07.02.2015 अधिकृत बैठक नहीं है.”

पिछले साल आम चुनाव से पहले नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद छोड़ कर मांझी को राज्य की कमान सौंपी थी.

सत्ताधारी दल में इस उठापटक को इसीलिए अहम माना जा रहा है क्योंकि इसी साल के आखिरी में राज्य में विधानसभा चुनाव होने हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)