ड्रोन हमले में आईएस के अफ़ग़ान प्रमुख की मौत

अमरीकी फ़ौज लौटी, पर ड्रोन हमले बरकरार इमेज कॉपीरइट AFP

चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के अफ़ग़ानिस्तान प्रमुख समझे जाने वाले मुल्ला अब्दुल रऊफ़ की ड्रोन हमले में मौत हो गई.

हेलमंद प्रांत के पुलिस प्रमुख ने इसकी पुष्ट कर दी है.

मुल्ला रउफ़ तालिबान से जुड़े रहे थे, पर पिछले दिनों उन्होंने इस्लामिक स्टेट के लिए अपनी प्रतिबद्धता का ऐलान किया.

हेलमंद में बुज़ुर्गों ने बताया कि छह लोगों को लेकर रेगिस्तान पार कर रही एक गाड़ी पर मिसाइल हमला किया गया.

उस गाड़ी में पहले से ही भारी मात्रा में गोला बारूद रखे हुए थे. गाड़ी में ज़बरदस्त विस्फोट हुआ और इसके टुकड़े टुकड़े हो गए.

नेटो ने नहीं की पुष्टि

इमेज कॉपीरइट AFP

पर ड्रोन हमला करने वाले नेटो ने मुल्ला रउफ़ की मौत की पुष्टि नहीं की है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने हेलमंद के पुलिस प्रमुख नबी जान मुल्लाखेल के हवाले से कहा है कि मुल्ला रउफ़ के साथ उनके बहनोई और दूसरे चार पाकिस्तानी नागरिक भी ड्रोन हमले में मारे गए.

अमरीकी सुरक्षा बलों ने रउफ़ को 2001 में पकड़ लिया था. उन्होंने ग्वांतानामो बे के क़ैदखाने में छह साल गुज़ारे थे.

इस्लामिक स्टेट के लिए प्रतिबद्धता का ऐलान करने के बाद रउफ़ तालिबान के सफ़ेद झंडे के बदले आईएस के काले झंडे का इस्तेमाल करने लगे थे. उन्हें इस्लामिक स्टेट ने ख़ोरासान का प्रमुख घोषित किया था.

अफ़ग़ानिस्तान का पुराना नाम ख़ोरासान है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार