'आप' को मिले चंदे पर आयकर विभाग का नोटिस

इमेज कॉपीरइट AFP

ऑल इंडिया रेडियो के अनुसार दिल्ली विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज करने वाली आम आदमी पार्टी को आयकर विभाग ने नोटिस भेजा है.

ये नोटिस पार्टी को मिले दो करोड़ रुपए के चंदे को लेकर हो रहे विवाद के सिलसिले में भेजा है. नोटिस पर नौ फ़रवरी की तारीख़ है और 16 तारीख़ तक इसका जवाब मांगा गया है.

विभाग ने पार्टी से गोल्डमाइन बिल्डकॉन प्राइवेट लिमिटेड, सनविज़न एजेंसीज़ प्राइवेट लिमिटेड, स्काईलाइन मैटल्स एंड एलॉयज़ प्राइवेट लिमिटेड और इन्फ़ोलांस सॉफ़्टवेयर सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड से मिले पैसे का पूरा ब्योरा मांगा है.

इमेज कॉपीरइट Other

नोटिस में कहा गया है कि शुरुआती जांच में पता चला है कि ये कंपनियां असली नहीं हैं और दस्तावेज़ों के मुताबिक़ ये कंपनियां और इनके डायरेक्टर अपने पतों पर मौजूद नहीं मिले.

नोटिस में यह भी कहा गया है कि कंपनी एक्ट के मुताबिक़ ये कंपनियां चंदा देने के नियमों का भी पालन नहीं करतीं.

आम आदमी पार्टी ने नोटिस का स्वागत करते हुए कहा है कि वो इस बारे में सहयोग करेगी.

कांग्रेस ने स्वीकार किया है कि उन्हें भी ऐसा एक नोटिस मिला है.

इमेज कॉपीरइट AP

सोशल मीडिया पर कई लोगों ने इस नोटिस की प्रतियां लगाई हैं और इन पर चर्चा हो रही है कि मतगणना के एक दिन पहले ही ये नोटिस भेजे गए.

'दो करोड़ का चंदा'

एक स्वयंसेवी संस्था 'आप वॉलंटियर्स एक्शन मंच' यानी अवाम ने मतदान से ठीक पहले आम आदमी पार्टी पर काला धन चंदे के रूप में लेने का आरोप लगाया था.

इमेज कॉपीरइट PTI

अवाम ने गुरुवार को चुनाव आयोग के सामने आम आदमी पार्टी के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराई थी और इसे ‘चंदे का घोटाला’ कहा था.

उनका आरोप था कि 'आप' को पिछले साल 50-50 लाख रुपए फ़र्ज़ी कंपनियों के ज़रिए उपलब्ध कराए गए थे जो हवाला से जुड़ी थीं.

इस पर 'आप' ने सुप्रीम कोर्ट के नेतृत्व में विशेष जांच टीम के ज़रिए चुनाव में खड़ी तीनों मुख्य पार्टियों को मिलने वाले चंदे की जांच कराने की मांग की थी

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार