मंदिर की ख़बर से स्तब्ध मोदी

इमेज कॉपीरइट PRAKASH RAVRANI

गुजरात के राजकोट में अपना मंदिर बनाए जाने की ख़बर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आश्चर्य जताया है और कहा है कि वह इस ख़बर से स्तब्ध हैं.

प्रधानमंत्री ने गुरुवार सुबह ट्वीट करके कहा कि इस ख़बर से वह स्तब्ध हैं. उन्होंने इसे भारत की महान पंरपराओं के ख़िलाफ़ बताया है.

उन्होंने लिखा कि ऐसे मंदिर बनाना हमारी संस्कृति के मुताबिक़ नहीं है. उनका कहना है कि इस ख़बर से वो निजी रूप से बहुत आहत हैं. प्रधानमंत्री ने मंदिर बनाने वालों से ऐसा न करने की अपील की है.

स्वच्छ भारत का सपना

उन्होंने कहा है कि अगर आपके पास समय और संसाधन है, तो कृपया उसका इस्तेमाल हमारे स्वच्छ भारत का सपना पूरा करने के लिए करें.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा के दौरान अपने नाम की कढ़ाई वाला सूट पहना था.

भारतीय जनता पार्टी के कुछ समर्थकों ने राजकोट में यह मंदिर बनवाया है. इस में नरेंद्र मोदी की प्रतिमा लगाई जाएगी.

अग्रेजी अख़बार 'इंडियन एक्सप्रेस' को ओम युवा ग्रुप के अध्यक्ष शंकर पटेल ने बताया, ''इस जगह हम नरेंद्र मोदी का चित्र रखकर पिछले 11 साल से पूजा कर रहे हैं. अब हमने उनकी एक प्रतिमा बनवाई है. यह प्रतिमा रविवार 15 फ़रवरी को मंदिर में स्थापित की जाएगी. इसी दिन सामूहिक विवाह समारोह करने की भी योजना है.''

मंदिर के पास ही पान और चाय की दुकान करने वाले शंकर पटेल ने अख़बार से कहा कि पत्थर से बनी इस प्रतिमा को ओडिशा में बनवाया गया और उसे बनवाने में एक लाख 70 हज़ार रुपए की लागत आई.

ओम युवा ग्रुप इस मंदिर में भारत माता और स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा लगवाने पर भी विचार कर रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार