फ़ोन कॉल की दरों में कमी आएगी?

फ़ोन कॉल्स पर टर्मिनेशन चार्ज ख़त्म

लैंडलाइन फ़ोन के ग्राहकों की तादाद में आ रही कमी देखते हुए भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने फ़ोन कंपनियों के लिए इंटरकनेक्शन दर ख़त्म कर दी है.

ट्राई ने लैंडलाइन फ़ोन मुहैया कराने वाली कंपनियों और मोबाइल फ़ोन कनेक्शन देने वाली कंपनियों के लिए दूसरे सर्विस प्रोवाइडर के नेटवर्क से आने वाली कॉल के लिए लगने वाली फ़ीस हटा दी है.

इसे इंटरकनेकेशन दर कहा जाता है.

इस क़दम के बाद कॉल दरों में गिरावट आने की संभावना है.

लैंडलाइन से लैंडलाइन, लैंडलाइन से मोबाइल और मोबाइल से लैंडलाइन पर फ़ोन करने पर पहले हर मिनट में 20 पैसे का इंटरकनेक्शन दाम देना होता था, जो पूरी तरह हटा लिया गया है.

साथ ही मोबाइल से मोबाइल पर टर्मिनेशन दाम को 20 पैसे प्रति मिनट से कम कर अब 14 पैसे कर दिया गया है. यह नए दाम लोकल, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कॉल पर लागू होंगे.

मोबाइल या लैंडलाइन फ़ोन पर आने वाले अंतर्राष्ट्रीय कॉल के दाम बढ़ाकर 40 पैसे प्रति मिनट से 53 पैसे प्रति मिनट किए गए हैं.

मोबाइल सुविधाएं देने वाली कंपनियों को इससे फ़ायदा होने की संभावना है, जिसके असर से ग्राहकों के फ़ोन बिल कम हो सकते है.

ट्राई की 31 दिसंबर 2014 की रिपोर्ट के मुताबिक़, देश में कुल 9709.7 लाख फ़ोन इस्तेमाल करने वालों में लैंडलाइन फ़ोन का इस्तेमाल करने वालों की संख्या मात्र 270 लाख है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार