गुजरात दंगा: तीन ब्रितानियों की हत्या के अभियुक्त बरी

तीन ब्रिटिश नागिरकों की हत्या के मामे में अभियुक्त बरी इमेज कॉपीरइट Getty

गुजरात में 2002 में हुए दंगों के दौरान हिम्मतनगर में तीन ब्रितानी नागिरकों समेत चार लोगों की हत्या के मामले में सभी छह अभियुक्तों को बरी कर दिया गया है.

उत्तर गुजरात के हिम्मतनगर की अदालत ने प्राणजित के मिठनभाई पटेल, चंदू उर्फ़ प्रहलाद पटेल, रमेश पटेल, मनोज पटेल, राजेश पटेल और कलाभाई पटेल को शुक्रवार को निर्दोष करार दिया.

एक भीड़ ने 28 फ़रवरी 2002 को प्राणजित में इमरान दाऊद, और ब्रिटेन में रहने वाले उनके चाचा सईद दाऊद और मोहम्मद असवत पर कथित तौर पर हमला कर दिया था. सदई, शकील, मोहम्मद और उनकी गाड़ी के स्थानीय ड्राइवर युसुफ़ पीराघर ज़िंदा जला दिए गए थे. इमरान पुलिस की मदद से जान बचा कर भागने में कामयाब रहे.

हिम्मतनगर अदालत का फ़ैसला

इमेज कॉपीरइट AP

दाऊद के परिवार के लोग भारत घूमने आए थे और दक्षिण गुजरात स्थित अपने गांव लौट रहे थे जब उन पर यह हमला हुआ था.

सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित विशेष जांच टीम ने इस मामले के सभी छह अभियुक्तों पर चार लोगों की हत्या का आरोप लगाया था पर हिम्मतनगर अदालत के मुख्य ज़िला जज आईसी शाह ने सभी अभियुक्तों को हत्या करने और आपराधिक साज़िश रचने के आरोप से बरी कर दिया.

सुप्रीम कोर्ट की विशेष जांच टीम ने गुजरात दंगों से जुड़े जिन नौ मामलों की जांच की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)ttps://twitter.com/BBCHindi