मुफ़्ती के बयान पर मोदी दें जवाब: विपक्ष

मुफ़्ती मोहम्मद सईद, मुख्यमंत्री, जम्मू-कश्मीर इमेज कॉपीरइट AFP

भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर में शांतिपूर्ण चुनाव के लिए पाकिस्तान का शुक्रिया करने मुख्यमंत्री मुफ़्ती मोहम्मद सईद के बयान पर सोमवार को विपक्ष ने प्रधानमंत्री से बयान मांगा.

इस बयान पर संसद में ख़ासा हंगामा हुआ और विपक्षी दलों ने राज्य सभा में यह मुद्दा उठाते हुए सरकार की जम कर आलोचना की.

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा - "इस मुद्दे पर सरकार और मुफ़्ती के बयान विरोधाभासी हैं, क्योंकि सत्ताधारी भाजपा जम्मू-कश्मीर सरकार में शामिल है. इसलिए प्रधानमंत्री ख़ुद आकर स्थिति साफ़ करें."

मुफ़्ती मोहम्मद सईद ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद कहा था कि राज्य में शांतिपूर्ण मतदान पाकिस्तान, चरमपंथियों और हुर्रियत कांफ्रेंस की वजह से हुआ और अगर वो चाहते तो चुनाव में अड़चन पैदा कर सकते थे.

राज्यसभा में वॉकआउट

इमेज कॉपीरइट PTI

राज्यसभा में इस पर सरकार का पक्ष रखते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री के इस बयान से केंद्र सरकार को अलग कर लिया.

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में शांतिपूर्ण चुनाव पुलिस, सुरक्षा बलों और आम जनता की वजह से ही हो सका है.

पर कांग्रेस इससे संतुष्ट नही हुई और उसके सदस्य सदन से उठ कर बाहर चले गए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)