लोकतंत्र में धमकी नहीं चलती: मोदी

इमेज कॉपीरइट AFP

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि लोकतंत्र में धमकियों से काम नहीं चलता है.

राज्य सभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर हुए बहस का जवाब देते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि गुजरात का मुख्यमंत्री रहने के दौरान उन्हें हर दिन जेल भेजने की धमकी मिलती थी .

उनका कहना था, ''आपातकाल के दौरान कितने ही जुल्म हुए उसके बावजूद राष्ट्र नहीं झुका.''

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मोदी ने दुनिया के देशों के साथ रिश्ते मजबूत करने की बात कही

उन्होंने आरोप लगाया कि यूपीए सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के ज़माने में लाई गई नीतियों को नया नाम देकर अमलीजामा पहनाया है.

मोदी ने कहा कि हम दुनिया के साथ अपने रिश्ते बनाना चाहते हैं और पड़ोसी देशों के साथ गहरे और गहरे संबंध बनाना चाहते हैं. उनका कहना था, ''हम ये रिश्ते आंख झुका कर और आंख दिखा कर नहीं आंख मिलाकर रखना चाहते हैं. हम उसी दिशा में प्रयास कर रहे हैं.''

उन्होंने जम्मू-कश्मीर बनी पीडीपी- बीजेपी गठबंधन वाली सरकार पर कहा कि वो साझा न्यूनतम कार्यक्रम और चरमपंथ के ख़िलाफ़ ज़ीरो टॉलरेंस की नीति अपनाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार