दिल्ली में दिखी ब्रितानी लोक कला की झलक

फ़ोक आर्काइव, ब्रिटिश काउंसिल इमेज कॉपीरइट British Council

हाल ही में नई दिल्ली स्थित ब्रिटिश काउंसिल ने 'इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर फॉर आर्ट्स' के 'माटी घर' में 'फ़ोक आर्काइव' नाम से कला प्रदर्शनी लगाई. चित्रकारी, पेंटिंग, फिल्म, प्रदर्शन, पोशाक, साज-सज्जा और कुछ बेहतरीन वस्तुओं के साथ 'फ़ोक आर्काइव' में ब्रिटेन के बेहतरीन कलेक्शन पेश किए गए.

इमेज कॉपीरइट Preeti Mann

इस 'फ़ोक आर्काइव' में जेरेमी डेलर और ऐलन केन के 1998 से 2005 के बीच किए गए संग्रह शामिल हैं.

इस प्रदर्शनी के माध्यम से ऐसी कलाकृतियों को पेश किया गया है, जिसमें कैदियों, बैरल रोलिंग सहभागियों, नॉटिंग हिल कार्निवाल मण्डलियों, प्रदर्शनकारियों, पॉप प्रशंसकों, किशोरों, ग्रामीणों और बेघर लोगो के द्वारा किया गया काम शामिल है.

इमेज कॉपीरइट Preeti Mann

इन कलाकारों ने परंपरा के दायरे से बाहर जाकर कला की गहराई व रचनात्मकता को पेश करने कोशिश की है.

उन्होंने ऐसे काम की तलाश की जिसे किसी और ने नहीं पहचाना हो, जो अपने आप में सादगी, हास्य, अनूठेपन और प्रभावशीलता का संयोजन है.

इमेज कॉपीरइट Preeti Mann

कला और मानवशास्त्र के बीच तालमेल बनाते हुए डेलर और केन ने इस संग्रह को तैयार करने के लिए छह सालों के दौरान 280 कृतियों का चयन किया.

ये कृतियाँ ब्रिटेन की लोककला का जीवंत प्रदर्शन हैं. यह संग्रह अपने आप में पारंपरिक कला की दुनिया की कलाकृतियों तथा कलाकारों की रचनात्मकता का अद्भुत संयोजन है.

इमेज कॉपीरइट Preeti Mann

इस प्रदर्शनी का एक ख़ास पहलू यह है कि इसमें अब तक लगभग अनजान कलाकारों को प्रस्तुत किया गया है. ब्रिटेन की संस्कृति पर केंद्रित इस प्रदर्शनी को मानवीय गतिविधियों से जोड़ने का प्रयास किया गया है.

इमेज कॉपीरइट British Council

'फ़ोक आर्काइव' की थीम मुख्यतः 14 विषयों, प्रस्तुति, अल्पकालिक, काम और खेल, घर, सड़क, राजनीति, प्रकाशन, समुद्रतट, भोजन, चाय और केक, जानवर, परिवहन, प्यार व मृत्यु और जेल से कला.

प्रस्तुति यानी प्रदर्शन में कई विनोदी गतिविधियों की एक श्रृंखला शामिल है, जैसे कई तरह की प्रतियोगिताएं, कार्निवाल, सर्कस और जुलूस आदि.

इमेज कॉपीरइट British Council

ये 'राजनीति' एड हॉल का बनाया हुआ एक नस्ल विरोधी बैनर है, जो कारोबारी संघों, कार्यकर्ताओं और सामुदायिक समूहों के लिए चार सौ से ज्यादा बैनर बना चुका है.

बड़े पैमाने पर भित्ती चित्र, युद्ध विरोधी चित्र, पेंशन भोगियों के विरोध प्रदर्शन के चित्र इसमें शामिल हैं.

इमेज कॉपीरइट British Council

'घर' श्रृंखला में घरों के चित्रों को पेश किया गया है. इसमें कैम्पिंग साइट, कारवां, एक शेड का बाहरी पेंट किया हुआ हिस्सा और ब्रिटेन के कारडिफ़ स्थित क्लेयर स्ट्रीट प्रोटेस्ट हाउस भी शामिल है.

इस घर के किराएदारों ने 1984 में सिटी कॉउंसिल के साथ एक विवाद के चलते एक गाड़ी को अपना घर बना लिया और उसके बाद इस घर की बाहरी दीवारों पर विरोध प्रदर्शन करते हुए शब्द लिखे.

इमेज कॉपीरइट Preeti Mann

प्रिज़न आर्ट कैदियों के द्वारा बनाई गयी कलाकृतियों को एक धर्मार्थ संस्थान द्वारा कोस्टलर पुरस्कार के लिए चुना गया.

जेलों और विशेष अस्पतालों के पुरुषों और महिलाओं को इन कार्यों के लिए बढ़ावा देना और सम्मानित करना इसका उद्देश्य है. यह एक सालाना प्रदर्शनी है और इसमें कई श्रेणियों के पुरस्कार दिए जाते हैं.

इमेज कॉपीरइट British Council

'चाय और केक' के माध्यम से दर्शकों को ब्रितानी जीवन शैली में शामिल अभिन्न पाक कला से परिचित करने का प्रयास किया गया है.

ब्रितानी पुडिंग, ऐपल क्रम्बल, लेमन फेयरी पुडिंग के चित्र कम्बरिया के पुडिंग फेस्टिवल से लिए गए हैं. जिसका आयोजन ब्रेथवेट विलेज हॉल में एक स्कूल के लिए धन एकत्रित करने के लिए किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार