भारतीय मछुआरे घुसे तो मार देंगे: श्रीलंका

रानिल विक्रमसिंघे इमेज कॉपीरइट AFP

भारतीय विदेश मंत्रालय ने श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे के बयान के जवाब में कहा है कि दोनों देशों के बीच बातचीत के दौरान मछुआरों के मुद्दे पर चर्चा की जाएगी.

समाचार एजेंसी आईएएनएस के अनुसार विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने कहा, "यह भारत और श्रीलंका के बीच चल रहा मुद्दा है. भारत की विदेश मंत्री आज निश्चित तौर पर श्रीलंका के विदेश मंत्री और प्रधानमंत्री के साथ इस मुद्दे पर बात करेंगी. हम सुनिश्चित करना चाहते हैं कि दोनों देश इस पर एक साथ काम करने में सक्षम हैं."

विक्रमसिंघे का विवादित बयान

इमेज कॉपीरइट Getty

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार तमिल टीवी थान्ती को दिए एक इंटरव्यू में विक्रमसिंघे ने भारतीय मछुआरों द्वारा समुद्री सीमाओं को तोड़ने का मसला उठाते हुए कहा था, "यदि कोई मेरे घर में घुसने की कोशिश करता है, तो मैं उस पर गोली चला सकता हूं....यदि वह मारा जाता है तो क़ानून मुझे यह करने की इजाज़त देता है."

श्रीलंकाई प्रधानमंत्री ने कहा था, "यह हमारी समुद्री सीमा है. जाफ़ना के मछुआरों को मछली पकड़ने की अनुमति दी जानी चाहिए. हमने उन्हें मछली पकड़ने से मना किया था तब भारतीय मछुआरे उधर आए."

उन्होंने साफ़ कहा कि भारतीय मछुआरों को श्रीलंका की समुद्री सीमा के भीतर मछली पकड़ने की इजाज़त नहीं दी जाएगी.

सुषमा स्वराज कोलंबो में

इमेज कॉपीरइट Reuers
Image caption भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज श्रीलंका के विदेश मंत्री समरवीरा के साथ

इस बीच, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की श्रीलंका यात्रा से पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज शुक्रवार को कोलंबो पहुंची और श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला शिरीसेना से मुलाक़ात की.

प्रधानमंत्री मोदी 10 से 14 मार्च तक तीन देशों की यात्रा पर जाने वाले हैं. मॉरीशस और सेसल्स के बाद 13-14 को मोदी श्रीलंका जाएंगे.

इस यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच 14 मार्च को कोलंबो में अन्य मुद्दों के साथ समुद्री सीमा के विवाद पर भी चर्चा होने की उम्मीद है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार