प्रशांत, योगेंद्र ने हराने की कोशिश की: आप

आम आदमी पार्टी इमेज कॉपीरइट AFP

आम आदमी पार्टी ने शीर्ष नेताओं योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण के ख़िलाफ़ हुई कार्रवाई की वजहें बताते हुए उन पर दिल्ली के चुनावों के दौरान पार्टी को हराने का प्रयास करने का आरोप लगाया है.

यह बयान पार्टी के नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और पार्टी नेताओं गोपाल राय, पंकज गुप्ता और संजय सिंह की ओर से जारी किया गया है.

इसके अलावा प्रशांत भूषण पर आरोप लगाया गया कि दोनों ही नेता लोगों को पार्टी के लिए चंदा देने से भी रोक रहे थे. बयान में आरोप लगाया गया कि प्रशांत भूषण ने एक अन्य पार्टी नेता आशीष खेतान से कहा था कि वो दिल्ली के विधान सभा के चुनाव में आम आदमी पार्टी को 20 से 22 सीटों तक रोकना चाहते हैं.

पिता और बहन भी शामिल

आम आदमी पार्टी ने इस बयान में प्रशांत भूषण के पिता शांति भूषण पर आरोप लगाए हैं.

बयान में कहा गया है, "प्रशांत भूषण ने दिल्ली में बीजेपी को हराने के लिए प्रचार करने आ रहे नेताओं को रोकने की कोशिश की.’’

इमेज कॉपीरइट PTI

आम आदमी पार्टी ने योगेंद्र यादव पर मीडिया में ख़बरें प्लांट कराने का आरोप लगाया है. पार्टी ने इसके लिए अपने पास सबूत होने का भी दावा किया है.

पहले क्यों नहीं?

पार्टी ने कहा है कि राजनीतिक सलाहकार समिति यानी पीएसी से निकालने के बाद इन नेताओँ की छवि को नुकसान न पहुंचे इसलिए कार्रवाई की वजह नहीं बताई गई थी.

इस बीच प्रशांत भूषण ने मीडिया से कहा, "ये अच्छा है कि जो बातें दूसरें लोगों की तरफ़ से कही जा रही थीं, जिस तरह के आरोप लग रहे थे वो अब पार्टी के शीर्ष नेताओँ की तरफ़ से लग रहे हैं. मेरे ख़्याल से अब वक्त आ गया है कि पूरा देश इस बारे में जान ले.’’

बीबीसी के संपर्क करने पर प्रशांत भूषण ने कहा कि जल्द दोनों नेताओं की तरफ से भी एक बयान जारी किया जाएगा.

योगेंद्र यादव ने ट्वीट कर पार्टी की ओर से जारी बयान का स्वागत किया है. योगेंद्र यादव ने लिखा है, "चार सहयोगियों की तरफ से जारी बयान ने खुली, पारदर्शी बातचीत की संभावना शुरू की है. सच्चाई की जीत होगी.’’

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार