मंजूनाथ हत्याकांडः छह को उम्र क़ैद

मंजूनाथ, आईओसी के अधिकारी जिन्हें गोली मार दी गई

भारत के सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को इंडियन ऑयल कार्पोरेशन (आईओसी) के अधिकारी मंजूनाथ की हत्या के मामले में छह लोगों को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई है.

मंजूनाथ की साल 2005 में उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

27 वर्षीय मंजूनाथ आईआईएम लखनऊ से पढ़ाई करने के बाद आईओसी से जुड़े थे. मंजूनाथ ने कथित तौर पर पेट्रोल में मिलावट करने वाले गिरोह का का भंडाफोड़ किया था.

एक रिपोर्ट के मुताबिक़ उन्होंने हत्या के मुख्य अभियुक्त पवन कुमार मित्तल के लखीमपुर खीरी स्थित पेट्रोल पंप पर तेल में मिलावट पाई थी.

जब वो 19 नवंबर, 2005 को मित्तल के पेट्रोल पंप पर कथित मिलावटी तेल का नमूना लेने के लिए गए तभी उन्हें गोली मार दी गई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)