आईएएस की मौत के मुद्दे पर रात भर धरना

d k ravi-imran quereshi इमेज कॉपीरइट

कर्नाटक में आईएएस अफ़सर डीके रवि की मौत के मुद्दे पर विपक्षी भारतीय जनता पार्टी और जेडी(एस) राज्य विधानसभा में रात भर धरना देंगे.

इस बीच डीके रवि का अंतिम संस्कार हो गया है. वो अपने फ्लैट में लटके पाए गए थे.

अतिरिक्त आयुक्त, व्यावसायिक कर (प्रवर्तन) के पद पर काम कर रहे रवि की मौत को पुलिस फिलहाल आत्महत्या मान रही है जबकि विपक्ष मौत का कारण कुछ और मानता है.

सीआईडी नहीं सीबीआई जांच हो

राज्य सरकार इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपने से इनकार कर चुकी है जिसके बाद विपक्ष ने धरना शुरू किया.

कर्नाटक के गृह मंत्री केजे जॉर्ज ने विधानसभा में बताया, "हम जांच सीआईडी को सौंप रहे हैं और वो अपनी रिपोर्ट इसी महीने के आख़िर में या विधानसभा का मौजूदा सत्र ख़त्म होने से पहले सौंप देगी."

उन्होंने कहा, "अगर विपक्ष संतुष्ट नहीं है तो हम मामला सीबीआई को सौंपने का फैसला कर सकते हैं."

लेकिन विपक्ष अपनी मांग पर क़ायम है. भाजपा नेता और पूर्व गृह मंत्री आर अशोक ने कहा, "इसे आत्महत्या कह कर पुलिस मामले को ख़त्म करना चाहती है."

उन्होंने कहा, "ईमानदार अफ़सरों को इस सरकार में सुरक्षा नहीं मिल रही है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार