रानाघाट नन बलात्कार कांड: दो ग़िरफ़्तार

नन से बलात्कार के विरोध में कोलकाता में रैली निकालतीं नन इमेज कॉपीरइट

पश्चिम बंगाल के रानाघाट में हुए डकैती और नन सामूहिक बलात्कार मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

एक अभियुक्त को मुंबई से जबकि दूसरा अभियुक्त पश्चिम बंगाल के हाबरा से पकड़ा गया है.

जांच की निगरानी कर रहे सीआईडी के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राजीव कुमार ने बताया, "हमने मोहम्मद सलीम शेख़ को मुंबई से गिरफ्तार किया है."

उन्होंने कुछ और बताने से इंकार कर दिया.

बीबीसी संवाददाता अमिताभ भट्टासाली के मुताबिक इस मामले के दूसरे आरोपी गोपाल सरकार को हाबरा से गिरफ्तार कर कोलकाता ले जाया गया है. पुलिस उससे पूछताछ कर रही है.

बांग्लादेशी गिरोह

सीआईडी की एक टीम सलीम को साथ लेकर मुंबई से कोलकाता पहुंची है.

यहां सीआईडी मुख्यालय भवानी भवन में उससे पूछताछ की जाएगी. और फिर एक स्थानीय अदालत में पेश किया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट EPABengal Police handout

सीआईडी सूत्रों ने बताया कि सलीम को पूछताछ के बाद रानाघाट भी ले जाया जाएगा.

अब तक सलीम से मिली जानकारी के मुताबिक़, इस घटना में बांग्लादेश के एक गिरोह का हाथ है. बीबीसी संवाददाता अमिताभ भट्टासाली के मुताबिक गोपाल सरकार भी बांग्लादेशी है और वो अवैध तरीके से भारत में रह रहा था.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption केंद्रीय जांच ब्यूरो ने तकनीकी कारणों से घटना की जांच से इनकार कर दिया है.

उस गिरोह की सहायता सलीम ने की थी. सलीम को उसके मोबाइल फ़ोन की निगरानी कर मुंबई से पकड़ा गया.

इस बीच, सीबीआई ने इस घटना की जांच से इनकार कर दिया है. इसकी वजह बताई जा रही है कि राज्य सरकार ने उचित तरीके से इसकी जांच के लिए आवेदन नहीं किया था.

राज्य सचिवालय में गृह विभाग के सूत्रों ने नाम नहीं बताने की शर्त पर गुरुवार को इसकी जानकारी दी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )

संबंधित समाचार