हमारी चिंता छोड़ें, राहुल को ढूँढे कांग्रेस: शाह

इमेज कॉपीरइट PTI

भारतीय जनता पार्टी की बैंगलुरू में जारी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में पूर्व अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी को भाषण देने का मौक़ा मिलेगा या नहीं इस पर सस्पेंस बरक़रार है.

समाचार एजेंसी पीटीआई का कहना है कि भाजपा महासचिव पी मुरलीधर राव ने इस मामले पर एक सवाल के जवाब में कहा, “वो यहां आए हैं और पूरी बैठक में मौजूद रहेंगे. वो हमारे मार्गदर्शन के लिए हमेशा मौजूद हैं.“

सिवाए साल 2013 की गोवा बैठक के, आडवाणी हाल के सालों में कार्यकारिणी में लगातार कार्यकर्ताओं को संबोधित करते रहे हैं.

2013 में आडवाणी बैठक में नहीं गए थे और कहा गया था कि उन्होंने ऐसा नरेंद्र मोदी को पार्टी का प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाए जाने के विरोध में किया था.

अमित शाह की तारीफ़

इमेज कॉपीरइट PTI

वहीं अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के काम काज की तारीफ़ की है.

अमित शाह ने सरकार के 10 माह के कामकाज को सराहने के साथ ये भी दावा किया कि ‘बीजेपी 10-20 साल सत्ता में रहेगी.’

उन्होंने कार्यकर्ताओं को किसानों, दलितों और पिछड़े तबक़ों पर तवज्जो देने की सलाह दी.

'राहुल को ढूंढे'

इमेज कॉपीरइट AP

भाजपा अध्यक्ष ने बैठक में कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि वो बीजेपी की चिंता करने की बजाए ये पता लगाए कि उसके उपाध्यक्ष कहां है.

राहुल गांधी पिछले काफी दिनों से ग़ायब हैं और इसे लेकर कई तरह की बातें हो रही हैं. इसमें उनके सोच विचार करने के लिए एकांत से लेकर सोनिया गांधी से पार्टी के मामलों पर मतभेद की बातें कही जा रही हैं.

इस बीच पार्टी नेता पी मुरलीधर राव ने ये भी कहा है कि भाजपा भूमि अधिग्रहण बिल पर जनता से सीधे संपर्क साधेगी.

उन्होंने कहा, "बिल को लेकर विपक्ष ने बहुत सारी भ्रांतियां फैलाई हैं और पार्टी को लगता है कि औद्योगिकरण और खेती के बीच किसी तरह का विरोधाभास नहीं है."

पार्टी ने इस संपर्क अभियान में 15 लाख कार्यकर्ताओं को लगाने की योजना बनाई है जिन्हें पहले से ट्रेनिंग दी जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार