बीबीसी बोले तो- बोरीवली बिरयानी सेंटर !

बॉम्बे बिरयानी सेंटर इमेज कॉपीरइट

मुंबई में खाने-पीने का सामान बेचने वाली दो दुकानें 'बीबीसी' नाम पर अधिकार को लेकर अदालत पहुँच गई हैं.

बोरीवली बिरयानी सेंटर का कहना है कि वही 'असली बीबीसी' है और उसका आरोप है कि 'बॉम्बे बेकिंग कंपनी' ने उसका नाम चुरा लिया है.

बिरयानी सेंटर के एक प्रवक्ता को इस बात से कोई फ़र्क नहीं पड़ा कि बीबीसी दुनिया के सबसे बड़े प्रसारणकर्ताओं में से एक, का भी संक्षिप्त नाम है.

उन्होंने कहा, "वह विदेश में होगा- लेकिन यहां भारत में हम ही, असली बीबीसी हैं."

'हैलो बीबीसी, आपका ऑर्डर?'

बिरयानी सेंटर ने 62 लाख रुपए से ज़्यादा हर्जाने की मांग की है. बेकरी कंपनी का कहना है कि उसे समझ नहीं आ रहा कि बवाल किस बात पर है.

जेडब्ल्यू मैरिएट होटल में स्थित बेकरी के एक प्रवक्ता ने इस बारे में बात करने से इनकार कर दिया कि बीबीसी नाम का इस्तेमाल करना सही है या नहीं.

इमेज कॉपीरइट

लंदन स्थित ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कॉर्पोरेशन (बीबीसी) के प्रेस कार्यालय से कहा गया है कि वह इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे.

इस मामले की सुनवाई बॉम्बे हाईकोर्ट में हो रही है. ऐसा लगता है कि इस विवाद की जड़ में टेलीफ़ोन उठाते ही स्वागत में बोले जाने वाला वाक्य है- "हैलो बीबीसी, आपका ऑर्डर क्या है?"

बिरयानी के लिए लोकप्रिय रेस्तरां का कहना है कि वह बोरीवली बिरयानी सेंटर (बीबीसी) के नाम से एक दशक से भी ज़्यादा वक्त से रजिस्टर्ड है.

वरिष्ठ रेस्तरां प्रबंधक प्रदीव उदेशी कहते हैं, "हमारे स्टाफ़ को यह दावा करने की ट्रेनिंग दी गई है कि वह बीबीसी से हैं. मुंबई में बीबीसी का मतलब है बोरीवली बिरयानी सेंटर. लोगों को हमारे ट्रेडमार्क का सम्मान करना चाहिए."

वह कहते हैं कि रेस्तरां ने साल 2002 में 'बीबीसी को अपने ट्रेडमार्क के रूप में' रजिस्टर करवाया था.

'बीबीसी, स्वागत है'

इमेज कॉपीरइट

बॉम्बे बेकिंग कपनी का कहना है कि वह बिरयानी सेंटर के 'दावे से पशोपेश में है.'

इसके प्रबंधक अनिलेश शेलर कहते हैं, "इसका मतलब ही क्या है? हमारे नाम अलग हैं. हम ब्रेड, फ्रेंच रोल, पेस्ट्री, सलाद, चाय और कॉफ़ी बेचते हैं. रेस्तरां बिरयानी बेचता है. दिक्कत कहां है?"

वह मानते हैं कि उनके कर्मचारी ऑर्डर के लिए टेलीफोन उठाते ही 'बीबीसी, स्वागत है', कहते हैं.

शेलर कहते हैं, "यह बात करने का सलीका है. हमारे ग्राहक इसे पसंद करते हैं."

भारत में बीबीसी के नाम की नकल करने के और भी कई उदाहरण हैं- इंग्लिंश सिखाने वाले स्कूल हैं और यहाँ तक कि ईंट बनाने वाली एक कंपनी भी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार