सोनिया ही नेता बनी रहें: शीला दीक्षित

शीला दीक्षित इमेज कॉपीरइट AP

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के बाद दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के पार्टी कमान संभाले रखने की बात कही है.

इन दोनों नेताओं के बयान तब आए हैं जब राजनीतिक हलकों में राहुल गांधी के कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष बनने की अटकलें लगाई जा रही हैं.

कई विश्लेषकों ने इसे राहुल के लीडरशिप स्टाइल के साथ वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं की असहजता के रूप में देखा है.

टीवी चैनलों पर ख़बर आते ही शीला दीक्षित ने स्पष्ट किया कि उन्होंने राहुल के नेतृत्व पर सवाल नहीं उठाया है, सोनिया की प्रशंसा की है.

इमेज कॉपीरइट AFP

पीटीआई ने शीला दीक्षित के हवाले से कहा है - "...हमें समझना होगा कि सोनिया गांधी की लीडरशिप बहुत सफल रही है और उनके साथ कई लोगों ने सहजता से काम किया है. राहुल की नेतृत्व क्षमता अभी पूरी तरह टेस्ट नहीं हुई है और पार्टी का नेतृत्व अभी सोनिया के हाथ में ही रहना चाहिए."

अमरिंदर ने भी उठाए सवाल

राहुल गांधी पिछले करीब दो महीने से छुट्टियों पर हैं और दिल्ली में किसान रैली के साथ सक्रिय राजनीति में लौट रहे हैं. इसी के साथ उनके पार्टी की कमान संभाल की अटकलें भी लग रही हैं.

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री और लोकसभा में कांग्रेस के डिप्टी लीडर अमरिंदर सिंह ने कहा था कि नरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल का सामना करने की पर्सनेलिटी केवल सोनिया गांधी की है.

उन्होंने ये भी कहा था कि राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने का ये सही समय नहीं है और पार्टी की कमान सोनिया गांधी के हाथ में रहनी चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार